ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के मंत्री का नीतीश कुमार पर तंज-डीएनए रिपोर्ट आई कि नहीं?

केंद्रीय मंत्री एवं रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने अपने ही घटक दल जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर रविवार को निशाना साधते हुए उनसे पूछा कि उनकी ‘डीएनए’ रिपोर्ट क्या है।

Author पटना | November 5, 2018 11:31 AM
केंद्रीय मंत्री एवं रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा

केंद्रीय मंत्री एवं रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने अपने ही घटक दल जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर रविवार को निशाना साधते हुए उनसे पूछा कि उनकी ‘डीएनए’ रिपोर्ट क्या है। उन्होंने नीतीश से पूछा कि प्रदेश की जनता आप से यह जानना चाहती है कि आपके ”डीएनए” की रिपोर्ट क्या है और वह आयी या नहीं आयी।
मुजफ्फरपुर जिले में रविवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुशवाहा ने नीतीश से पूछा,‘‘ आपको भले ही जरूरत हो या नहीं लेकिन प्रदेश की जनता आप से यह जानना चाहती है कि आपके ”डीएनए” की रिपोर्ट क्या है और वह आयी या नहीं आयी। आयी तो क्या रिपोर्ट है। जरा बताने का काम किजिए।’’ कुशवाहा के गत बुधवार को पटना के रवींद्र भवन में सरदार पटेल की जयंती के अवसर पर आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार को ”बडा भाई” बताते हुए यह दावा किया था कि राजग में आने के बाद उनसे एक बार हुई व्यक्तिगत मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा था कि 15 साल मुख्यमंत्री रहना बहुत होता है, अब मन संतृप्त हो चुका है।

रालोसपा प्रमुख ने आरोप लगाया,‘‘नीतीश कुमार जी मुझे ”नीच” कहते हैं। मैं इस मंच से बडे भाई नीतीश कुमार से पूछना चाहता हूं कि उपेंद्र कुशवाहा इसलिए ”नीच” है क्योंकि वह दलित, पिछड़ा और गरीब नौजवानों को उच्चतम न्यायालय में जज बनाना चाहता है”। हम पिछड़ा एवं अति पिछड़े की बातों और उनके हितों को उठाते हैं इसलिए ”नीच” हैं।

सामाजिक न्याय की बात करते हैं इसलिए उपेंद्र कुशवाहा ”नीच” है। गरीब घर के बच्चे कैसे पढे, इसके लिए अभियान चलाते है तो क्या उपेंद्र कुशवाहा इसके लिए ”नीच” है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उपेंद्र कुशवाहा सम्मान के लिए राजनीति करता है। उपेंद्र कुशवाहा जनता के लिए राजनीति करता है।’’ गौरतलब है कि शनिवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान नीतीश से कुशवाहा द्वारा उनके बारे में दिये गये वक्तव्य पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो उन्होंने (नीतीश) कहा था कि कहां सवाल जवाब का स्तर इतना नीचे ले जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App