UP Panchayat Election: उन्नाव रेप केस में दोषी कुलदीप सेंगर की पत्नी का BJP ने काटा टिकट, नए नाम पर विचार

रविवार दोपहर यूपी BJP प्रमुख ने समाचार एजेंसी ANI को इस बारे में बताया, "संगीता सेंगर की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया गया है।" बता दें कि यूपी जिला पंचायत चुनावों के लिए नौ अप्रैल को बीजेपी ने उम्मीदवारों की सूची जारी की थी, जिसमें संगीता का नाम भी था।

BJP gave ticket to Sangeeta Sengar, Kuldeep Sengar wife Sangeeta Sengar, UP Panchayat election, Sangeeta Sengar bjp, jansattaउन्नाव रेप कांड में दोषी पाए गए कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का टिकट काट दिया है। (express file photo)

BJP ने उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के लिए उन्नाव रेप कांड में दोषी पाए गए कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर का टिकट काट दिया है। पार्टी ने यह फैसला पूरे मसले पर खड़े हुए विवाद के बाद लिया है। भाजपा अब उम्मीदवारी के लिए नए नाम पर विचार रही है। ये जानकारी उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दी है।

रविवार दोपहर यूपी BJP प्रमुख ने समाचार एजेंसी ANI को इस बारे में बताया, “संगीता सेंगर की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया गया है।” संगीता सेंगर उन्नाव के फतेहपुर चौरासी प्रथम से पंचायत सदस्य की उम्मीदवार बनाई गई थीं। इसके बाद से बीजेपी के विरोधी दल लगातार सवाल उठा रहे थे। स्वतंत्र देव सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिला पंचायत सदस्य के अधिकृत उम्मीदवारों की उन्‍नाव जिले की लिस्ट जारी की थी। जिसमें संगीता सेंगर को उम्मीदवार घोषित किया गया था।

संगीता सेंगर उन्नाव जिले के सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर की पत्नी हैं और पहले भी जिला पंचायत की अध्यक्ष रह चुकी हैं। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि विभिन्न स्तरों की समीक्षा भी हो रही है। उन्नाव में वार्ड नम्बर 22 से श्रीमती संगीता सेंगर का टिकट हो गया था, अब संगीता सेंगर का टिकट रद किया जाता है। वह भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी नहीं रहेंगी।

भाजपा के उन्नाव जिला अध्यक्ष से आग्रह किया गया है कि वह वार्ड नम्बर 22 से तीन प्रत्याशियों का नाम शीघ्र ही भेजें, जिससे कि एक नाम फाइनल हो सके। बता दें, पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर को उन्नाव जिले की 17 वर्षीय किशोरी से दुष्कर्म मामले में दोषी मानते हुए दिल्‍ली की तीस हजारी कोर्ट ने 20 दिसंबर 2019 को उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

जिस समय सेंगर को सजा सुनाई गई वह उन्नाव जिले के बांगरमऊ क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के विधायक थे और सजा सुनाए जाने के बाद उनकी विधानसभा सदस्यता भी रद्द कर दी गई थी।

Next Stories
1 मास्क के सवाल पर इंटरव्यू में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को मोबाइल फोन दिखाने लगे ऐंकर, पर खुद नहीं लगा रखा था फेस कवर
2 उद्धव ने दिया महाराष्ट्र में लॉकडाउन का संकेत, दिल्ली में टूटे रिकॉर्ड, 7897 नए मामले
3 बंगाल चुनावः पद्म पुरस्कार से सम्मानित करीमुल हक ने PM मोदी को लगाया गले, फोटो देख पूछने लगे लोग- कहां हैं सोशल डिस्टेंसिंग?
ये पढ़ा क्या?
X