ताज़ा खबर
 

अपने खून से PM मोदी को खत लिखकर की मांग-खून का बदला खून, नवाज को लाओ होश में

युवाओं ने पीएम मोदी का खत लिखकर कहा है कि खून का बदला खून होना चाहिए और पाकिस्तान पीएम नवाज को होश में लाना होगा।

पीएम मोदी को खून से पत्र लिखते युवा। (Photo- ANI)

उत्तरप्रदेश के संभल शहर के युवाओं ने अपने खून से पीएम मोदी को खत लिखकर पाकिस्तान के खिलाफ कदम उठाने की मांग की है। न्यूज एजेंसी एनएनआई ने इन युवाओं की तस्वीरें जारी की है। इन युवाओं ने पीएम मोदी से मांग की है, ‘नवाज को होश में लाओ’ ‘खून का बदला खून’। वहीं कुछ अन्य ने मांग की है, ‘वार्ता नहीं, जंग चाहिए।’ बता दें, रविवार(18सितंबर) को कश्मीर के उरी सेक्टर में हुई आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान में तनातनी की स्थिति बनी हुई है। उरी में आतंकियों ने एक सेना कैंप पर हमला कर दिया था। इस हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे और एक दर्जन से ज्यादा घायल हो गए थे।

इसके बाद से भारत में पाकिस्तान के खिलाफ आवाज उठाई गई। सरकार ने भी पाकिस्तान के खिलाफ अपना विरोध जाहिर किया। उरी हमले के बाद भारत में पाकिस्तान और वहां की सरकार के खिलाफ काफी प्रदर्शन हुए हैं। इसके साथ ही लोगों ने पाक पीएम नवाज शरीफ के पूतले फूंककर भी अपना विरोध जाहिर किया है। वहीं शहीदों को लोग अपनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं। बाबा रामदेव ने भी गुरुवार को कहा कि अगर हम देश में शांति लाना चाहते हैं, तो पहले हमें पीओके में स्थित आतंकी कैंप ध्वस्त करने होंगे।

Read Also: रामदेव बोले- देश में चाहते हैं शांति तो पीओके में ध्वस्त करने होंगे आतंकी कैंप

विदेश मंत्रालय ने बुधवार को भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया था। विदेश सचिव एस जयशंकर ने अब्दुल बासित को बताया कि जिन आतंकियों ने उरी में हमला किया था, वे पाकिस्तान से ताल्लुक रखते हैं। उन्हें आतंकियों के पास से मिले सामान के बारे में भी बताया गया। उरी सेक्टर में हमला करना वाले आतंकियों के पास से पाकिस्तान में बनी दवाईयां, खाने के पैकेट और ग्रेनेड बरामद हुए थे।

Read Also: संराष्ट्र महासभा में नवाज़ शरीफ़ के संबोधन के समय बलूच-भारतीयों का प्रदर्शन, पाकिस्तानी सेना को बताया वर्दी में ‘आईएसआईएस’

इसके अलावा यूएन की जनरल एसेंबली में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाषण का भी विरोध किया जा रहा है। शरीफ ने आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में मारे गये वानी का हवाला एक ‘युवा नेता’ के रूप में दिया और कहा कि वह ‘ताजा कश्मीरी इन्तिफादा, एक लोकप्रिय और शांतिपूर्ण स्वतंत्रता आंदोलन के प्रतीक के रूप में उभरे हैं…।’ इसके बाद भारत ने इसका विरोध किया। शरीफ के बयाने के बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने उनकी तुलना हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर से की है।

Read Also: भारत ने संयुक्त राष्ट्र को बताया- पाकिस्तान एक ‘आतंकी देश’, करता है युद्ध अपराध

उरी हमले से संबंधित विस्तृत खबरें यहां पढ़ें…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App