ताज़ा खबर
 

यूपी: जेलों में कैदियों के मनोरंजन के लिए योगी सरकार लगा रही 900 एलईडी टीवी

उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद कैदियों के मनोरंजन के लिये ''एलईडी टीवी'' लगाये जायेंगे । इस मद में सवा तीन करोड़ रूपए से अधिक की राशि मंजूर की गई है और पहले चरण में प्रदेश के 64 कारागारों के लिये 900 टीवी खरीदे जाएंगे ।

Author Updated: September 9, 2018 3:10 PM
सीएम योगी आदित्यनाथ। (image source-ANI)

उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद कैदियों के मनोरंजन के लिये ”एलईडी टीवी” लगाये जायेंगे । इस मद में सवा तीन करोड़ रूपए से अधिक की राशि मंजूर की गई है और पहले चरण में प्रदेश के 64 कारागारों के लिये 900 टीवी खरीदे जाएंगे । लखनऊ और गौतम बुद्ध नगर की जेलों में सबसे अधिक 30-30 एलईडी टीवी लगाए जाएंगे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। टीवी खरीदने के लिये प्रदेश शासन ने तीन करोड़ सैंतीस लाख पचास हजार रूपये मंजूर किए हैं। जेल प्रशासन 30 नवंबर 2018 तक यह टीवी खरीदकर प्रदेश की 64 जेलों में लगाएगा । इनमें सबसे अधिक तीस तीस एलईडी टीवी लखनऊ और गौतम बुध्द नगर की जेलों में लगेंगे । इसके बाद 25-25 एलईडी टीवी मुरादाबाद, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, आजमगढ., इटावा और वाराणसी की जेलों में लगेंगे, वहीं बरेली, चित्रकूट और बाराबंकी में बीस बीस टीवी लगेंगे । उत्तर प्रदेश में कुल 72 जेल है।

जेलों में टीवी लगाये जाने के लिये खरीदे जाने का आदेश उप्र के संयुक्त सचिव ने लखनऊ में स्थित राज्य के कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवायें महानिरीक्षक को भेज दिया गया है। आदेश में कहा गया है कि प्रदेश के कारागारों में निरूध्द बंदियों के मनोरंजन के लिये एलईडी टेलीविजन की व्यवस्था कराने हेतु 64 कारागारों में 900 एलईडी के लिये तीन करोड़ सैंतीस लाख पचास हजार रूपये की धनराशि स्वीकृत की जाती है । इस आदेश में यह भी कहा गया है कि इस स्वीकृत धनराशि का उपयोग 30 नवंबर 2018 तक अवश्य कर लिया जाये।

महानिरीक्षक (कारागार) पी के मिश्रा ने ”भाषा” को बताया कि जेलों में एलईडी टीवी लगाने के आदेश के अनुरूप धनराशि स्वीकृत हो गयी है । प्रदेश के 64 जिलों में 900 एलईडी टीवी लगाये जाने है । इसके लिये विभिन्न कंपनियों से निविदायें मंगवाई गयी हैं । 30 नवंबर से पहले ही जेलों में टीवी लग जायेंगे। उन्होंने कहा कि जेल में टीवी लगाये जाने का मतलब केवल कैदियों का मनोरंजन ही नहीं, बल्कि टीवी के माध्यम से उन्हें आध्यात्मिक संदेश, प्रवचन, योगा, आदि भी सिखाये जायेंगे । कैदियों को प्रेरणादायक कार्यक्रम और देश भक्ति से भरी फिल्में भी दिखायी जायेंगी ।

जेल के आईजी मिश्रा ने कहा कि जेलों में आधुनिक रसोईघर की भी व्यवस्था की जा रही है जिसके तहत उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद कैदियों को अब जेल की रसोई में खाना पकाने से निजात मिलने वाली है। जेलों में आधुनिक मशीनों से खाना पकाने की व्यवस्था की जा रही है। फिलहाल प्रदेश की 25 जेलों में यह सुविधा प्रदान की गई है और जल्दी ही राज्य की सभी 72 जेलों की रसोई आधुनिक होने वाली है। आधिकारियों के अनुसार, राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश की 25 जेलों में अत्याधुनिक माड्यूलर किचन की शुरूआत की गयी है। राज्य की शेष जेलों में भी इस वर्ष के अंत तक यह सुविधा शुरू हो जाएगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 2013 मुजफ्फरनगर दंगों में हिन्‍दू शख्‍स ने जान पर खेल बचाई थी मस्जिद, आज तक कर रहा देख-रेख
2 केरल: कॉन्‍वेंट के भीतर कुएं में तैरती मिली नन की लाश
3 थाने में महिला सिपाही ने किया सुसाइड, थानाध्यक्ष, 3 पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या की तहरीर