ताज़ा खबर
 

जहरीली शराब से मौत पर बोले डॉक्टर – दर्दनाक था अस्पताल का नजारा, खुद भी लाशों के बीच बैठकर खाया खाना

मेरठ से सामने आई एक खबर के मुताबिक यहां डॉक्टरों की एक टीम ने महज आठ घंटे में 21 पोस्टमार्टम किए थे। ये सभी शव जहरीली शराब से मरने वालों के थे।

जहरीली शराब से मौत के बाद मातम फोटो सोर्स- ट्विटर/ANI

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब से हुई मौतों के बीच डॉक्टरों की टीम का भी दर्द उभर आया। दोनों राज्यों में मिलाकर जहरीली शराब के चलते बीते तीन-चार दिनों में ही सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बाद से ही पूरे उत्तर प्रदेश में अवैध शराब की धरपकड़ लगातार जारी है। इस मामले में अब तक कई दर्जन अधिकारी-कर्मचारी निलंबित हो चुके हैं और सैकड़ों लीटर शराब जब्त हो चुकी है। पुलिस की तरफ से शराब में चूहे मारने की दवा मिलाए जाने का भी शक जाहिर किया था।

यूं सामने आया डॉक्टरों का दर्दः मेरठ से सामने आई एक खबर के मुताबिक यहां डॉक्टरों की एक टीम ने महज आठ घंटे में 21 पोस्टमार्टम किए थे। ये सभी शव जहरीली शराब से मरने वालों के थे। टीम के एक सदस्य ने मीडिया को बताया, ‘मैंने अपने करियर में एक साथ इतनी लाशें नहीं देखी। आमतौर पर पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पीएम हाउस की टेबल पर ही होती है लेकिन अब बाहर भी करना पड़े। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। सभी शवों का विसरा प्रिजर्व करना था और सभी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट तैयार होनी थी। समय से काम करने के लिए डॉक्टरों ने खाना भी पोस्टमॉर्टम हाउस में लाशों के बीच बैठकर खाया।’

अखिलेश ने सरकार पर लगाया था बड़ा आरोपः दोनों राज्यों में हुई इन दर्दनाक मौतों को लेकर अब सियासत भी तेज हो चुकी है। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पूरे मामले में सरकार के भी शामिल होने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि बिना सरकारी मदद के यह कारोबार हो ही नहीं सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App