ताज़ा खबर
 

यूपी: ‘अस्सलामु-अलैकुम’ न कहने पर स्‍टूडेंट्स को पीटता था टीचर, सस्‍पेंड

जिले के एक विद्यालय में इस्लामिक तरीके से अभिवादन न करने पर एक प्रधानाध्यापक ने छात्रों की पिटाई कर दी।

Author शाहजहांपुर (उप्र) | December 18, 2018 11:37 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

जिले के एक विद्यालय में इस्लामिक तरीके से अभिवादन न करने पर एक प्रधानाध्यापक ने छात्रों की पिटाई कर दी। बच्चों ने इस मामले की शिकायत दौरे पर आई प्रमुख सचिव से की जिसके बाद मामले की जांच में प्रथमदृष्टया दोषी पाए जाने पर प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया गया है। मुख्य विकास अधिकारी प्रेरणा शर्मा ने सोमवार को बताया कि प्रमुख सचिव और जिले की नोडल अधिकारी डिंपल वर्मा रविवार को जिले के दौरे पर आई थीं। इसी दौरान वह तिलहर क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्र बिलहरी स्थित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के दौरे पर गईं।

सूचना पाकर ग्रामीणों के साथ इसी प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाला कक्षा छह का छात्र प्रियांशु भी पहुंचा और उसने प्रमुख सचिव को बताया कि हमारे प्रधानाध्यापक चांद मियां से जब हम लोग गुड मॉर्निंग कहते हैं, तो वह कहते हैं कि हमसे अस्सलामु-अलैकुम कहो । उन्होंने बताया कि पीड़ित छात्र प्रियांशु ने कहा कि हम लोग अस्सलामु-अलैकुम नहीं बोल पाते तो प्रधानाचार्य चांद मियां उन्हें बुरी तरह पीटते हैं। प्रियांशु ने अपनी गर्दन पर पिटाई के दौरान आई चोटें भी प्रमुख सचिव को दिखाई ।

शर्मा ने बताया कि छात्र प्रियांशु की चिकित्सीय जांच कराई गई, साथ ही प्राथमिक जांच जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपी गई और प्रधानाध्यापक के निलंबन की कार्रवाई की जा रही है । बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि मामले में प्रथमदृष्टया दोषी पाए जाने पर अध्यापक चांद मियां को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच कराई जा रही है ।

वहीं दूसरी ओर प्रधानाध्यापक चांद मियां ने छात्रों द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा और न ही बच्चों की पिटाई की है। उन्होंने कहा कि मुझे किसी षड्यंत्र के तहत बदनाम किया जा रहा है । इस बीच तिलहर थाना प्रभारी अशोक पाल ने बताया कि प्रियांशु की मां की तहरीर पर प्रधानाध्यापक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App