यूपीः प्राइमरी के छात्र से कार साफ करा रहा था टीचर, वीडियो वायरल हुआ तो सरकार ने बैठाई जांच

बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने अधिकारियों से मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने कहा कि मामले का संज्ञान लिया है और इस संबंध में जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Gujarat Police, Tribal Woman Paraded Naked, Woman elopes with lover, Gujarat's Dahod district, national news, jansatta
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्म प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। Photo Source: Indian Express

बुलंदशहर के सिकंदराबाद प्रखंड में एक प्राथमिक स्कूल में शिक्षक की कार को साफ करते छात्र का वीडियो सामने आने के बाद सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। वीडियो में सिकंदराबाद प्रखंड के फरीदपुर गांव के एक स्कूल का छात्र अपने शिक्षक की कार की सफाई करते दिख रहा है।

योगी सरकार ने तब सुध ली जब वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने अधिकारियों से मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है। पीटीआई से बात में उन्होंने कहा कि उन्होंने मामले का संज्ञान लिया है और इस संबंध में जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उनका कहना था कि अगर यह बात सच है तो बेहद चिंताजनक है। स्कूलों में बच्चे पढ़ने आते हैं न कि शिक्षकों का काम करने। गौर करने वाली बात यह भी है कि बच्चा प्राइमरी की कक्षा का छात्र है।

लखीमपुर का बहराइच में असर नहीं: एडीजी
लखीमपुर हिंसा में तीन अक्टूबर को चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद बहराइच जिले में पुलिस प्रशासन विशेष सतर्कता बरत रहा है। उच्‍चाधिकारी भी यहां पर लगातार सक्रियता बनाए हुए हैं। एडीजी अखिल कुमार ने मंगलवार को यहां गुरुद्वारा प्रबंध समिति के अध्यक्ष और अन्य प्रमुख लोगों से मुलाकात की। उन्होंने दावा किया कि लखीमपुर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना का कोई भी प्रभाव बहराइच में नहीं है। यहां के सिख समाज सहित सभी वर्ग प्रशासन के साथ खड़े हैं।

लखीमपुर हिंसा में मारे गए लोगों में सिख समाज से आने वाले दो किसान बहराइच जिले के रहने वाले थे। लखीमपुर जा रहे लोगों को हाउस अरेस्ट करने के सवाल पर एडीजी ने कहा कि शासन खुद ही सब कुछ त्वरित ढंग से न्याय की दिशा में काम कर रहा है। जब भी ऐसी घटनाएं होती हैं तो कुछ अराजक तत्व मौके का फायदा उठाकर कानून व्यवस्था को खराब कर सकते हैं। इसके लिए हमें एहतियातन आवश्यक कदम उठाने ही पड़ते हैं।

गौरतलब है कि लखीमपुर हिंसा में मारे गए बहराइच के दो सिख किसानों के घरों पर लगातार किसान संगठनों व राजनीतिक दलों का आनाजाना लगा हुआ है। भाजपा ने अल्पसंख्यक आयोग के प्रतिनिधिमंडल को भेजकर अपनी संवेदना जताई है। किसान नेता राकेश टिकैत भी यहां आ चुके हैं। प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव, बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र, आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह के साथ पंजाब के तमाम नेताओं ने पीड़ित परिवारों से मिलकर संवेदना प्रकट की है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट