ताज़ा खबर
 

अयोध्या में राम की मूर्ति के लिए चांदी के 10 तीर भेंट करेंगे शिया मुसलमान

रिजवी ने कहा कि ये तीर भारत की आतंकवाद से लड़ाई के प्रतीक होंगे।

‘नया अयोध्या’ प्लान के तहत उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अयोध्या में सरयू नदी के पास भगवान राम की एक विशाल मूर्ति बनाने की तैयारी कर रही है।

उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक प्रपोजल भेजा है, जिसमें उन्होंने अयोध्या में प्रस्तावित भगवान राम की 100 मीटर ऊंची मूर्ति के लिए 10 चांदी के तीर भेंट करने की बात कही है। बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा है कि कुछ शिया मुसलमानों ने वक्फ बोर्ड के जरिए चांदी के तीर गिफ्ट करने का सुझाव दिया है। टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  को उन्होंने एक खत भी भेजा है। रिजवी ने कहा कि ये तीर भारत की आतंकवाद से लड़ाई के प्रतीक होंगे। उन्होंने कहा कि जिस तरह मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम ने तीरों से राक्षसों का वध किया था, उसी तरह हम चाहते हैं कि ये तीन आतंकवाद से लड़ाई का प्रतीक बनें। ताकि सभी धर्मों को मानने वाले लोग भारत में शांति से रह सकें।

गौरतलब है कि ‘नया अयोध्या’ प्लान के तहत उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अयोध्या में सरयू नदी के पास भगवान राम की एक विशाल मूर्ति बनाने की तैयारी कर रही है। धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से राज्य के पर्यटन विभाग ने इसकी एक प्रेजेंटेशन गवर्नर राम नाइक को दिखाई थी। कुछ अधिकारियों ने कहा था कि सरकार के स्लाइड शो में भगवान राम की मूर्ति 100 मीटर रखने की बात कही गई है, लेकिन यह फाइनल नहीं है। राज भवन से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक पर्यटन विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अवनीश कुमार अवस्थी ने यह प्रेजेंटेशन बनाई थी।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB (Lunar Grey)
    ₹ 14640 MRP ₹ 29499 -50%
    ₹2300 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Champagne Gold
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

इसमें 18 अक्टूबर को अयोध्या में होने वाले दीवाली समारोह के लिए तय किए गए कार्यक्रमों की जानकारी थी। गवर्नर राम नाइक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अलफोंस और संस्कृति मंत्री महेश शर्मा भी इस समारोह में मौजूद रहेंगे। विज्ञप्ति में कहा गया था कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) से मंजूरी मिलने के बाद मूर्ति को सरयू घाट पर बनाया जाएगा। अयोध्या के एकीकृत विकास के लिए राज्य सरकार ने केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को 195.89 करोड़ की डीपीआर भेजी है और मंत्रालय राज्य सरकार को अब तक 133.70 करोड़ रुपये दे चुका है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App