ताज़ा खबर
 

UP Police को वीकली ऑफः कानपुर में 700 सिपाही-दरोगा छुट्टी पर, लेकिन इमरजेंसी कॉलिंग पर 15 मिनट में नहीं पहुंचे तो होगा एक्शन

लगातार 24 घंटे की ड्यूटी पर रहने की वजह से पुलिसकर्मियों में तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। दिन-रात काम के दबाव की वजह से बीते कुछ वर्षों में पुलिसकर्मियों के खुदकुशी करने की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है।

उत्तर प्रदेश पुलिस (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पिछले हफ्ते ही उत्तर प्रदेश पुलिस को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीकली ऑफ का तोहफा दिया था, लेकिन इस पुलिसकर्मियों की खुशी को एक झटका लगा है। दरअसल कानपुर में मंगलवार (20 अगस्त) से वीकली ऑफ शुरू हो गया है। करीब 700 पुलिसकर्मियों को पहले दिन राहत दी गई है लेकिन इसके साथ ही उन्हें यह निर्देश भी दिया गया है कि इमरजेंसी की स्थिति में बुलाए जाने पर उन्हें 15 मिनट में हाजिर होना पड़ेगा। अब छुट्टी पर जाने वालों को यह समझ में नहीं आ रहा कि 15 मिनट में हाजिर होना है तो वे थाने पर रहें या चले जाएं।

बता दें कि लगातार 24 घंटे की ड्यूटी पर रहने की वजह से पुलिसकर्मियों में तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। दिन-रात काम के दबाव की वजह से बीते कुछ वर्षों में पुलिसकर्मियों के खुदकुशी करने की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है। शासन और पुलिस विभाग के आला अधिकारियों ने इस पर मंथन किया तो ये बात सामने आई कि काम के प्रेशर की वहज से सुसाइड की घटनाएं सामने आ रही हैं। इससे निजात पाने के लिए पुलिसकर्मियों को हफ्ते में एक दिन की छुट्टी देने पर विचार किया गया है। तनाव मुक्त करने के लिए शासन ने वीकली ऑफ देने की मंजूरी दे दी है।

पायलट प्रोजेक्ट में शामिल है कानपुरः शासन ने कानपुर को सप्ताहिक अवकाश योजना के तहत पायलट प्रोजेक्ट में शामिल किया है। कानपुर के 700 सिपाही और दरोगा मंगलवार की सुबह 8 बजे से बुधवार सुबह 8 बजे तक अवकाश पर रहेंगे। इस काम के लिए एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

एसपी के मुताबिक सभी थाना प्रभारियों को पुलिसकर्मियों के हिसाब से रोस्टर तैयार करने को कहा गया था। सभी ने इस काम को पूरा कर लिया है। कानपुर शहर के सभी थानों में लगभग 5 हजार सिपाही और दरोगा तैनात हैं। सप्ताह में सात दिनों के हिसाब से इसे डिवाइड किया गया है। मंगलवार से नई व्यवस्था को लागू किया जा रहा है और 700 पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ दिया जा रहा है। एक सप्ताह बाद इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी।

National Hindi News, 20 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

Delhi Yamuna River Flood Alert Live Updates: दिल्ली में बाढ़ का खतरा, ताजा जानकारी के लिए क्लिक करें

उन्होंने कहा कि इसे वीकली ऑफ नहीं कहा जा सकता है। छुट्टी पर रहने वाले सिपाही-दरोगा रिजर्व रहेंगे। इस दौरान वो आराम कर सकते हैं, अपनी वर्दी का रखरखाव कर सकते हैं। लेकिन इमरजेंसी की स्थिति में बुलाए जाने पर उन्हें 15 मिनट में थाने में हाजिर होना होगा। यदि वो 15 मिनट में हाजिर नहीं होते हैं तो इसे अनुशासनहीनता माना जाएगा।

Next Stories
1 Delhi Yamuna River Flood Alert Updates: हथिनीकुंड से छूटे पानी ने बढ़ाई मुसीबत, दिल्ली में निगम बोध घाट, किसान कॉलोनी समेत कई इलाके डूबे
2 पेड़ के नीचे खाना पका रहे लोगों पर टूट पड़ीं मधुमक्खियां, बुजुर्ग की मौत, 5 महिलाओं समेत 13 घायल
3 Arcticle 370: पाकिस्तान के रवैये के चलते निलंबित हुई पुंछ-रावलकोट बस सेवा, PoK के 42 लोग फंसे
ये पढ़ा क्या?
X