ताज़ा खबर
 

जूतों पर जात‍ि का रंग: यूपी में ठाकुर ब्रांड का जूता बेच रहा दुकानदार हिरासत में

जिले के गुलावठी इलाके में दुकानदार नासिर से कुछ दिन पहले एक युवक ने जूते खरीदे थे। जूते में ‘ठाकुर’ लिखा होने का उसने विरोध किया। उसने कहना है कि यह जातिसूचक शब्द है। उसका आरोप है कि विरोध करने पर दुकानदार उससे झगड़ा करने लगा।

bulandshahr police actionयूपी के बुलंदशहर में जूते के दुकानदार के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की है। (फोटो – सोशल मीडिया)

यूपी के बुलंदशहर में जूते बनाने वाली एक कंपनी और उसको बेचने वाले एक दुकानदार के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। एक युवक की शिकायत पर पुलिस ने यह कार्रवाई की। युवक का आरोप है कि दुकानदार जिस जूते को बेच रहा है उस पर ‘ठाकुर’ शब्द लिखा है। इससे एक खास जाति का अपमान हो रहा है। हालांकि दुकानदार का कहना है कि जूते तो कंपनी बना रही है, वह केवल बेचता है, खुद नहीं बनाता है। मामले में पुलिस ने दुकानदार को हिरासत में लिया है। पुलिस का कहना है कि उसने कानून के मुताबिक जो जरूरी था, वही किया है।

जिले के गुलावठी इलाके में दुकानदार नासिर से कुछ दिन पहले एक युवक ने जूते खरीदे थे। जूते में ‘ठाकुर’ लिखा होने का उसने विरोध किया। उसने कहना है कि यह जातिसूचक शब्द है। उसका आरोप है कि विरोध करने पर दुकानदार उससे झगड़ा करने लगा। मामले में युवक ने थाने में शिकायत की तो पुलिस ने नासिर को हिरासत में ले लिया।

दुकानदार ने अपनी सफाई में कहा है कि जूते कंपनी ने बनाए हैं, वह केवल बेचता है। इस बीच एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। वीडियो में दुकानदार नासिर जूते के साथ खड़ा है, जिस पर ‘ठाकुर’ लिखा हुआ है। नासिर पूछ रहा है कि उसकी रोजी-रोटी क्यों बंद करवा रहे हो? वीडियो बनाने वाला उससे कहता है कि ये जूते उसने हटाए क्यों नहीं, नासिर का कहन है कि वह सिर्फ लाकर बेच रहा है, बना नहीं रहा है। वीडियो बनाने वाला उससे कहता है कि देखकर क्यों नहीं लाते हो?

रिपोर्ट दर्ज कराने वाले ने पुलिस से मांग की है कि इस मामले में आरोपी कंपनी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उसका कहना है कि कंपनी के साथ-साथ दुकानदार भी दोषी है। उसको ऐसे जूते नहीं बेचने चाहिए थे।

मामले में पुलिस का कहना है कि इस प्रकरण में वर्तमान विधि व्यवस्था के अनुसार जो सुसंगत था वह कार्यवाही की है, यदि पुलिस कार्यवाही न करती तो बहुत से लोग उल्टी/भिन्न प्रतिक्रिया देते। अतः पुलिस ने नियम का पालन किया है। कृपया इसे इसी रूप में देखें।

Next Stories
1 भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को कोर्ट में पेशी से मिली छूट, मालेगांव बम धमाके में हैं आरोपी
2 कोरोना वैक्सीन पर भिड़ने के बाद अब अदार पूनावाला और कृष्णा एला ने किया साथ चलने का संकल्प, कहा-लोगों को हुआ था भ्रम
3 जब ममता बनर्जी से पूछा मोदी के बारे में सवाल, बोलीं- काम नहीं करते, दलाली ज्यादा करते हैं
यह पढ़ा क्या?
X