ताज़ा खबर
 

यूपी पुलिस का कारनामा: गोहत्‍या के आरोप में एक साल से कैद है सतवीर, पुलिस ने जहीर बता किया था गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पुलिस का अनोखा कारनामा सामने आया है। यहां पुलिस ने एक युवक सतवीर को जहीर के नाम पर गोहत्या के आरोप में एक साल से जेल में बंद रखने का आरोप है।

Author नई दिल्ली | Published on: June 27, 2019 11:58 AM

उत्तर प्रदेश में पुलिस का एक अनोखा कारनामा सामने आया है। यहां पुलिस पर एक युवक सतवीर को जहीर के नाम पर गोहत्या के आरोप में गिरफ्तार करने का आरोप है। सतवीर पिछले एक साल से गोहत्या के आरोप में जेल में बंद है। अब पीड़ित ने खुद के जहीर से सतवीर साबित करने के लिए अदालत में याचिका दायर की है।

अदालत ने सतवीर ने कहा कि उसे जहीर के नाम पर जेल भेजा गया है और जहीर नहीं सतवीर है। अदालत ने उसकी याचिका स्वीकार करते हुए इस मामले में नियमित सुनवाई के आदेश दिए हैं। दरअसल पेशे से राजमिस्त्री सतवीर बुलंदशहर के अनूपशहर थाना क्षेत्र का रहने वाला है। वह काम के सिलसिले में मुरादाबाद आया था।

आरोप है कि पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ दर्ज पशु क्रूरता अधिनियम के तहत दर्ज मुकदमे में उसका चालान कर दिया। भोजपुर पुलिस के इस चालान में उसे प्रकाशनगर निवासी जाहिर बताया गया। पुलिस ने उसे 29 जून 2018 को इस मामले में जेल भेज दिया था। दरअसल यह मामला तब खुला जब सिविल कोर्ट में पेशी पर आए सतवीर ने एक वकील कुलदीप सिंह को अपनी आपबीती सुनाई।

वकील कुलदीप ने इस मामले की पड़ताल की और सतवीर के परिजनों से मिलकर संबंधित जानकारी एकत्रित की। इसके बाद सतवीर को न्याय दिलाने के लिए जनसुनवाई में शिकायत दर्ज कराई। वहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद इस मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष भी शिकायत दर्ज कराई गई।

आयोग के आदेश के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की है। मामले में नियमित सुनवाई होने के बाद सतवीर के रिहा होने की उम्मीदें बढ़ गई हैं। पुलिस की तस्दीक के बाद सतवीर की रिहाई का राह खुलेगी। वहीं, सतवीर को जेल भेजने वाले पुलिस अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो सकती है। इस मामले में एसएसपी अमित पाठक का कहना है कि यह मामला पुराना है। सीओ ठाकुरद्वारा इस मामले की जांच कर रहे हैं। रिपोर्ट आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CM योगी का सख्त निर्देश: सुबह 9 बजे ऑफिस पहुंचें अधिकारी, नहीं तो होगी कड़ी कार्रवाई
2 चमकी से हुई मौत पर बोले मांझी- CM नीतीश स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त करें या खुद दें इस्तीफा
3 नदी में प्रदूषण फैलाने पर NGT ने नगर निगम पर लगाया 2 करोड़ रुपये का जुर्माना! निगम प्रमुख ने मुलायम के समधी समेत 4 अधिकारियों पर गिराई गाज