ताज़ा खबर
 

बुलंदशहर हिंसा : बीजेपी यूथ विंग का सदस्य शिखर अग्रवाल गिरफ्तार, हिंसा फैलाने का है मुख्य आरोपी

यूपी के बुलंदशहर में गोकशी के शक में फैली हिंसा के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी शिखर अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। शिखर को हिंसा फैलाने का मुख्य आरोपी बनाया गया है। बताया जा रहा है कि वह बीजेपी यूथ विंग का सदस्य है।

Author Published on: January 10, 2019 10:44 AM
बुलंदशहर के स्याना में पुलिस पर भीड़ का हमला. (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस आर्काइव)

यूपी के बुलंदशहर में गोकशी के शक में फैली हिंसा के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी शिखर अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। शिखर को हिंसा फैलाने का मुख्य आरोपी बनाया गया है। बताया जा रहा है कि वह बीजेपी यूथ विंग का सदस्य भी है। वह चिंगरावठी बवाल में भी नामजद है। उसे आज (गुरुवार) को कोर्ट में पेश किया जाएगा। बता दें कि बुलंदशहर हिंसा मामले में पुलिस अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

यह है पूरा मामला : बुलंदशहर के स्याना में कथित रूप से गोवंश के अवशेष मिलने की खबर फैलने के बाद 3 दिसंबर 2018 में हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान भीड़ ने गोली मारकर पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी थी। वहीं, गोली लगने से ही सुमित नाम के युवक की भी मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वह बजरंग दल का जिला संयोजक है।

इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारने वाला भी दबोचा गया : बुलंदशहर हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या करने वाले प्रशांत नट को पुलिस ने 27 दिसंबर को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया था। इसके अलावा रिवॉल्वर चुराने वाले जॉनी की भी पहचान हो चुकी है। उसकी तलाश की जा रही है। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, जॉनी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की रिवॉल्वर चोरी की थी, जबकि प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी। इस मामले में पुलिस को दो वीडियो मिले थे, जिनमें ये दोनों एक साथ नजर आए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बिहार: नई दिल्ली-भागलपुर एक्सप्रेस में डकैती, 4 एसी और एक जनरल कोच से 25 लाख का माल ले गए बदमाश
2 छत्तीसगढ़ : 150 साल के मगरमच्छ की मौत हुई तो भावुक हो गया पूरा गांव, यह थी वजह
3 कार-मोटरसाइकिल मॉडिफाई करने वालों पर शिकंजा? सुप्रीम कोर्ट ने दी अहम राय