Kannauj: भूख-प्यास से तड़पकर एक दर्जन से ज्यादा गोवंश की मौत, दर्दनाक हालत में मिले शव, मचा हड़कंप

कन्नौज जिले की एक अस्थाई गोशाला में करीब एक दर्जन गोवंश की भूख और प्यास से तड़पकर मौत हो गई। इसके बाद वहां हड़कंप का मच गया है।

cows
प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

कन्नौज जिले की एक अस्थाई गोशाला में करीब एक दर्जन गोवंश की भूख और प्यास से तड़पकर मौत होने का मामला सामने आया है। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद समाजवादी पार्टी के कुछ कार्यकर्ता गोशाला पहुंच गए। इसके बाद वहां हड़कंप मच गया। वहां के हालात देखकर सपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। सूचना मिलने पर पहुंचे कोतवाल ने उन्हें शांत कराया। वहीं मामले में अधिकारियों का कहना है कि आज की तारीख (शनिवार, 8 जून) में किसी गोवंश की मौत नहीं हुई है, जो शव मिले हैं उनकी जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

मामला कन्नौज जिले के विकासखंड जलालाबाद के ग्राम पंचायत जेवा और ग्राम पंचायत बसीरापुर भाट की संयुक्त गोशाला का है। यहां एक दर्जन से अधिक गायों की मौत हो गई। पांच गायें मरणासन्न थीं। दो गायों के शरीर में कीड़े पड़ गए थे, जो दर्द से तड़प रही थीं। बता दें कि गोशाला में 47 गायों को रखने की व्यवस्था थी। प्रशासन की ओर से जेवा के ग्राम प्रधान को 26 और बसीरापुर भाट के ग्राम प्रधान को 24 गायों की जिम्मेदारी दी गई थी। मगर ये गोशाला प्रशासनिक लापरवाही के कारण बूचड़खाने में तब्दील हो गई। भूख-प्यास और तेज धूप से एक-एक कर गायें तड़प-तड़पकर मरने लगीं। ग्रामीणों का दावा है कि इसकी जानकारी दोनों गांवों के सचिवों को दी गई। मगर किसी ने कोई सुध नहीं ली।

National Hindi News, 8 JUNE 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें जानने के लिए यहां क्लिक करें

इस मामले ने तब तूल पकड़ा जब गांव के ही एक व्यक्ति ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख और सपा नेता नवाब सिंह यादव को गोशाला में मवेशियों की मौत होने की जानकारी दी। कुछ ही देर में सपाई गोशाला पहुंच गए। गोशाला के पीछे छह मवेशियों के शव झाड़ियों में पड़े मिले। दो मवेशियों के अवशेष इधर-उधर बिखरे थे। दुर्गंध से सांस लेना दूभर था। गोशाला में सिर्फ छह मवेशी मिले। इनमें से एक मरणासन्न स्थिति में था। दो उठने की हालत में नहीं थे। चारागाह में सूखा भूसा पड़ा था। पानी का इंतजाम भी नहीं था। यह देख सपा कार्यकर्ता भड़क गए। उन्होंने प्रदेश सरकार पर सवाल खड़े किए। सूचना मिलने पर सदर कोतवाल विनोद मिश्रा पुलिस बल के साथ पहुंच गए। उन्होंने सभी को शांत कराया।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट