ताज़ा खबर
 

UP नगर निकाय चुनाव नतीजे 2017: अयोध्या में बीजेपी के लिए पहली बार हुआ एेसा

UP Nagar Nigam Election/Chunav Result 2017, UP Nagar Palika Election Result 2017: उपाध्याय की जीत इसलिए भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है, क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत अयोध्या से ही की थी।

Author फैजाबाद | December 1, 2017 6:47 PM
सरयू नदी के किनारे अयोध्‍या का एक दृश्‍य।

राजधानी लखनऊ से करीब 120 किलोमीटर दूर स्थित मंदिरों के शहर अयोध्या ने आज अपना पहला मेयर चुन लिया। अयोध्या और फैजाबाद के मतदाताओं ने पहली बार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ऋषिकेश उपाध्याय को मेयर चुन लिया है। उपाध्याय की जीत इसलिए भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है, क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत अयोध्या से ही की थी। अयोध्या में भाजपा के उपाध्याय ने समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार गुलशन बिंदू को मात्र 3601 मतों से पराजित किया। उपाध्याय को 44 हजार 642 मत मिले जबकि बिंदू को 41 हजार 41 मत मिले। बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार गिरीश चंद्र को 6033 वोट जबकि कांग्रेस के शैलेंद्र मणि को 3601 वोट मिले, वहीं आम आदमी पार्टी के सर्वेश वर्मा को 1180 मत हासिल हुए।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने सत्ता में आते ही अयोध्या और मथुरा वृंदावन में नगर निगम गठित करने का फैसला किया था। अयोध्या में 22 नवंबर को मतदान हुआ था। उपाध्याय ने चुनाव जीतने के बाद कहा, ‘‘मेरी पहली प्राथमिकता अयोध्या के लोगो की आकांक्षाओं और उम्मीदों को पूरा करना है। मेरे दिमाग में केवल अयोध्या का सर्वागीण विकास है। मुझे साफ सफाई पर ध्यान देना और संकल्प पत्र में लिखे एक-एक शब्द को पूरी तरह से लागू करना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मेरी जीत का श्रेय मेरे क्षेत्र के मतदाताओं को जाता है। इसके अलावा मैं पार्टी नेतृत्व का शुक्रगुजार हूं कि उसने मुझ पर विश्वास जताया।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के गत विधानसभा चुनाव की तरह नगर निकाय चुनावों में भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जोरदार जीत हासिल की। परवान चढ़ती सर्दी के बीच बढ़ी सियासी सरगर्मी में महापौर की कुल 16 सीटों में से अब तक घोषित नौ सीटों के परिणामों में से आठ भाजपा के पक्ष में रहे हैं जबकि अलीगढ़ की सीट पर बसपा ने कब्जा जमाया है। सपा और कांग्रेस का खाता नहीं खुल सका है। बाकी सीटों पर भी भाजपा के प्रत्याशी आगे चल रहे हैं। इसके अलावा नगर निगम पार्षदों के 1300 पदों में से अब तक घोषित 1005 के परिणामों में भी भाजपा 459, सपा 157, बसपा 126 और कांग्रेस 78 सीटें जीत चुकी हैं। अयोध्या-फैजाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी ऋषिकेश जायसवाल ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा की गुलशन बिंदू को 3601 मतों से पराजित किया। वाराणसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मृदुला ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की शालिनी को 78,843 मतों से पराजित किया।

सहारनपुर नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी संजीव वालिया ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के फजल उर्रहमान को दो हजार मतों से पराजित किया। मुरादाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी विनोद अग्रवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहम्मद रिजवान कुरैशी को 21 हजार 635 मतों से पराजित किया।

अलीगढ़ नगर निगम महापौर पद पर बसपा प्रत्याशी मुहम्मद फुरकान ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के राजीव कुमार को 10 हजार 11 मतों से पराजित किया। झांसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी रामतीर्थ सिंघल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के बृजेन्द्र कुमार व्यास को 16 हजार 373 मतों से पराजित किया। फिरोजाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी नूतन राठौर ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी आॅल इण्डिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन की मसरूर फातिमा को 42 हजार 396 मतों से पराजित किया। नवगठित मथुरा नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मुकेश ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहन सिंह को 22 हजार 108 मतों से पराजित किया। गोरखपुर नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी सीताराम जायसवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा के राहुल को 75 हजार 972 मतों से पराजित किया।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App