ताज़ा खबर
 

जिस गाड़ी पर सपा का झंडा, उसमें बैठा गुंडा- बीजेपी मंत्री का विवादित बयान

अपने बयानों के लिए चर्चित यूपी में योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि जिस गाड़ी पर समाजवादी पार्टी का झंडा है, उसमें बैठा गुंडा है।

Nand gopal nandiयोगी आदित्यननाथ सरकार के मंत्री नंद गोपाल नंदी(फोटो-सोशल मीडिया)

अपने बयानों के लिए चर्चित यूपी में योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि जिस गाड़ी पर समाजवादी पार्टी का झंडा है, उसमें बैठा गुंडा है। नंदी ने कहा कि सपा का झंडा टांगकर चलने वाले गुंडई करते हैं। यह जगजाहिर है। नंदी ने बसपा के नारे की भी खिल्ली उड़ाई। कहा कि गुंडा चढ़ गया छाती पर, बटन दबाओ हाथी पर। मंत्री नंदी ने कांग्रेस को भी आड़े हाथ लिया। कहा कि कांग्रेस एक दूसरे को गाली देने और लड़ाने का काम करती थी, यह किसी को बताने की जरूरत नहीं है।

दरअसल कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी अपने गृहजनपद इलाहाबाद में चौपाल लगाकर जनता की समस्याएं सुन रहे थे।उसी दौरान उन्होंने विरोधी राजनीतिक दलों के खिलाफ बयानबाजी शुरू कर दी।समाजवादी पार्टी से शुरू होकर बहुजन समाज पार्टी को निशाना बनाए और फिर कांग्रेस पर भी हमला बोला। बता दें कि नंद गोपाल गुप्ता नंदी इससे पहले भी अपने बयानों के कारण चर्चा में रहे हैं।फूलपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव के दौरान उन्होंने मुलायम को रावण, मायावती को शूर्पणखा कहकर निशाना साधा था।

जिसके बाद पार्टी ने उनके बयान से किनारा कर लिया था। वहीं सपा और बसपा नेताओं ने आयोग को पत्र लिखकर मंत्री के बयान पर कार्रवाई की मांग की थी।बता दें कि नंदगोपाल गुप्ता नंदी पहले बहुजन समाज पार्टी से जुड़े थे। 2007 से 2012 के बीच मायावती सरकार में मंत्री रहे। बाद में 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर विधानसभा चुनाव लड़े। जीतने के बाद उन्हें मंत्री बनाया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस नेता ने राहुल गांधी को भावी प्रधानमंत्री बता मुंबई में टंगवाए पोस्टर
2 झारखंड के सबसे बड़े अस्‍पताल में हर दिन तीन बच्‍चे की मौत, तीन महीने में 303 नौन‍िहालों की गई जान