यूपी: महिला टीचर ने बच्‍चे को जमकर पीटा, फिर कपड़े उताकर स्‍कूल में घुमाया - UP: Lady Teacher Beat the Child Fiercely, then Take Off his Clothes and Moved to School - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी: महिला टीचर ने बच्‍चे को जमकर पीटा, फिर कपड़े उताकर स्‍कूल में घुमाया

स्कूल की प्रिंसिपल वीना खन्ना का कहना है कि बच्चे के माता-पिता जो आरोप लगा रहे हैं, वे बेबुनियाद हैं।

Author रायबरेली | October 25, 2017 5:26 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में एक पब्लिक स्कूल की शिक्षिका द्वारा पहली कक्षा के बच्चे को पहले जमकर पीटने और इसके बाद उसे स्कूल में बिना कपड़ों के घुमाने का मामला सामने आया है। बच्चे के पिता ने थाने में इसकी शिकायत की है। वहीं, स्कूल प्रबंधन ने ऐसे आरोपों को बेबुनियाद बताया है। जिले के बछरावां थाना क्षेत्र के बिशनपुर गांव में छह साल का एक लड़का इंडस्ट्रियल एरिया के मॉडर्न पब्लिक स्कूल में कक्षा एक का छात्र है।

बच्चे के पिता ने बताया कि 23 अक्टूबर को उनका बेटा स्कूल में पढ़ने के लिए गया था। यहां किसी बात को लेकर स्कूल की एक शिक्षिका ने उसकी जमकर पिटाई की। इससे उसके चेहरे और गर्दन पर चोट आई है। उनका कहना है कि पिटाई से बच्चा बहुत बुरी तरह डर गया है और स्कूल जाने से मना कर रहा है। पीड़ित बच्चे ने बताया कि स्कूल टीचर ने उसकी पिटाई की। उसके कपड़े उताकर स्कूल में घूमाया और इसके बाद जमीन पर बैठाकर लंच कराया। पुलिस का कहना है कि शिकायत मिली है, मामले की जांच की जा रही है।

स्कूल की प्रिंसिपल वीना खन्ना का कहना है कि बच्चे के माता-पिता जो आरोप लगा रहे हैं, वह बेबुनियाद है। उन्होंने कहा, “अगर उन्हें स्कूल प्रबंधन से कोई शिकायत थी तो वह स्कूल आकर मामले की शिकायत करते। उन्हें पुलिस के पास जाने की क्या जरूरत थी। स्कूल में बच्चे को किसी भी तरह से टॉर्चर नहीं किया गया है।”

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही यूपी के बुलंदशहर जिले के स्याना कस्बे के एक स्कूल में 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले 13 वर्षीय छात्र की टीचर ने बेरहमी से पिटाई की थी और उसके प्राइवेट पार्ट को भी जख्मी कर दिया था। छात्र का कसूर बस इतना था कि वो अपनी भूगोल की किताब घर पर भूल आया था। टीचर ने छात्र की कमर के साथ-साथ उसके प्राइवेट पार्ट पर भी वार किया था। छात्र की तबीयत खराब होने पर अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App