ताज़ा खबर
 

यूपीः HC की चुनाव आयोग को लताड़, कहा- चुनाव में नहीं होनी चाहिए गड़बड़ी

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ ने चुनाव आयेाग को सीतापुर में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव निष्पक्ष तरीके से कराने का आदेश दिया है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ ने चुनाव आयेाग को सीतापुर में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव निष्पक्ष तरीके से कराने का आदेश दिया है। इसके साथ ही अदालत ने अगली सुनवाई तक चुनाव आयोग को इस सम्बंध में रिपोर्ट भी पेश करने के आदेश दिये हैं। अदालत ने यह भी कहा है कि वह चुनाव प्रभावित करने के मुद्दे पर सुनवाई कर सकती है।

मामले की अगली सुनवाई नौ जुलाई को होगी। यह आदेश न्यायमूर्ति राजन रॉय और न्यायमूर्ति सौरभ लवानिया की पीठ ने जिला पंचायत पद की समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी अनीता की याचिका पर पारित किया। याची की ओर से कहा गया कि सत्ताधारी दल की प्रत्याशी श्रद्धा सागर के पक्ष में चुनाव प्रभावित करने के लिए अन्य प्रत्याशियों व उनके रिश्तेदारों के विरुद्ध मुकदमे दर्ज किये जा रहे हैं। गौरतलब हैं कि जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव तीन जुलाई को है। वहीं, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने बृहस्पतिवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव योगी सरकार द्वारा अपहृत
कर लिया गया है।

यहां संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमारी पार्टी के जिला पंचायत सदस्य कहां जाएंगे, किस पार्टी को मत देंगे, इसकी मैं कोई गारंटी नहीं ले सकता। बुलंदशहर में हमारी पार्टी के तीन सदस्यों पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया और दबाव बनाया।’’

उन्होंने कहा कि इतिहास में पहली बार 25 जिलों में निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष चुने गए। आज तक उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं हुआ। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को मार-मार कर भगा दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आठ जुलाई से आठ अगस्त तक पूरे उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी का सदस्यता अभियान शुरू हो रहा है। इसमें 403 विधानसभा क्षेत्रों में एक करोड़ सदस्य बनाने का लक्ष्य हमने रखा है।

पार्टी ने 403 विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारी बनाए हैं और प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 25,000 सदस्य बनाने का लक्ष्य हमने रखा है। संजय सिंह की उपस्थिति में भाजपा की मनरेगा सेल की अध्यक्ष (उत्तर प्रदेश) और भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की सदस्य एवं इलाहाबाद उच्च न्यायालय की वरिष्ठ अधिवक्ता सुष्मिता राघव अपने समर्थकों के साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हुईं।

Next Stories
1 ड्रोन हमले पर भाजपा सांसद ने पूछा, जवाब देना चाहिए या बस रोती रहे मोदी सरकार?
2 सियासी नोकझोक अपनी जगह, ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को भेजा बंगाली आम
3 बिहार का सुशासन! जदयू विधायक के बेटे को मिला ठेका, दो बार शिलान्यास, पुल बना नहीं, ब्लैकलिस्ट करने के लिए लिखा गया, पर मिला गया एक्सटेन्शन
ये पढ़ा क्या?
X