ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: शॉर्ट सर्किट से मकान में लग गई आग, नींद में ही जिंदा जल गए परिवार के 4 लोग

मृतकों की पहचान जगदीश उदैनिया (46), उनकी मां कुमुदबाला (70), पत्नी रजनी (42) और 14 वर्षीय बेटी मुस्कान के रूप में हुई।

Author झांसी | Published on: October 16, 2019 9:33 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स-इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के सिपरी बाजार थाना क्षेत्र में मंगलवार तड़के आग लगने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई। एक अन्य व्यक्ति को कुछ चोटें आई हैं। पुलिस को आशंका है कि यह आग शॉर्ट सर्किट से लगी। झांसी की दयाराम कॉलोनी के एक घर में लगभग 1 बजे आग लग गई और जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस को इस बात की भी सूचना दी गई कि घर के अंदर चार लोग फंसे हुए है। पुलिस की टीमें और फायर टेंडर मौके पर पहुंचे और कुछ ही घंटों में आग पर काबू पा लिया गया।

घर के दो सदस्यों को बचाया गया: सर्कल अधिकारी (सीओ) अभिषेक कुमार ने बताया कि स्थानीय निवासियों ने पहले ही बचाव अभियान शुरू कर दिया था। बाद में घर के अंदर चार व्यक्तियों के शव मिले। आग की लपटें घर के अन्य हिस्सों में फैल गई थीं, लेकिन घर के दो सदस्य जो छत पर सो रहे थे, उन्हें बचा लिया गया है।

National Hindi News, 16 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

छत पर सो रहे लोगों को स्थानिय लोगों ने बचा लिया: मृतकों की पहचान जगदीश उदैनिया (46), उनकी मां कुमुदबाला (70), पत्नी रजनी (42) और 14 वर्षीय बेटी मुस्कान के रूप में हुई। जगदीश के पिता और बड़े भाई छत पर सो रहे थे जिन्हें स्थानीय लोगों द्वारा बचाया लिया गया। घर के दूसरी तरफ सीढ़ी लगाकर उन्हें नीचे उतरने में मदद की। पुलिस ने कहा कि उन्हें हल्की चोटें आई हैं और उन्होंने जहरीले धुएं भी लगे है लेकिन दोनों अब खतरे से बाहर हैं।

जहरीले धुएं से वह होश में नहीं थे: सीओ ने बताया कि दंपति, मां और बेटी एक ही कमरे में सो रहे थे और ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जिंदा जलने से पहले ही वह जहरीले धुएं की वजह से उन्होंने अपना होश खो दिया। किसी ने भी बाहर निकलने के लिए कोई प्रयास नहीं किया था ऐसा संकेत मिला है। कमरे में दो फ्रिज और एक इन्वर्टर थे और ऐसा प्रतीत होता है कि इन दोनों उपकरणों में शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई थी।

आग लगने का सही कारण जांच करने के बाद पता चलेगा: सीओ ने आगे कहा कि आग लगने का सही कारण मुख्य अग्निशमन अधिकारी द्वारा जांच में स्पष्ट हो सकेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस को अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है। जबकि जगदीश के पिता एक सेवानिवृत्त रेलवे कर्मचारी हैं। जगदीश पास में ही एक जनरल स्टोर चलाता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आज ही हुआ था बंगाल का विभाजन, यह थी लॉर्ड कर्जन के विनाशकारी कदम की वजह, ऐसे हुआ था बंटवारा
2 Palghar Building Collapsed: पालघर में भरभराकर गिरा 4 मंजिला इमारत का बड़ा हिस्सा, 4 साल की बच्ची ने गंवाई जान
3 कभी रोते हैं तो कभी सड़क पर लेट जाते हैं, अजब-गजब हरकतों और अनोखे वादों के साथ फिर चुनावी मैदान में उतरे नीटू शटरावालां