ताज़ा खबर
 

यूपी चुनाव: नीतीश, मोदी को जिताने वाले प्रशांत किशोर ने बाहुबलियों से निपटने के लिए दिया कांग्रेस को नया मंत्र

यूपी में जनाधार खो चुकी कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीति बना रहे प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को पार्टी के अल्पसंख्यक विभाग, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवादल के साथ अलग-अलग बैठक की।

Prashant Kishor, up election 2017, uttar pradesh elections 2016, UP elections, Up polls, Prashant Kishor, congress, BJP, UP governmnet, UP news, lucknow newsदो दिनों की बैठक में प्रशांत किशोर ने कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने पर जोर दिया।

यूपी में जनाधार खो चुकी कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीति बना रहे प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को पार्टी के अल्पसंख्यक विभाग, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवादल के साथ अलग-अलग बैठक की। इस दौरान उन्‍होंने 2017 विधानसभा चुनाव में बाहुबली उम्मीदवारों के खिलाफ महिलाओं को मैदान में उतारने सुझाव दिया।

दो दिनों से लखनऊ में डेरा जमाए प्रशांत किशोर के समक्ष जिला स्तर के पदाधिकारियों ने अपने सुझाव रखे। महिला कांग्रेस की बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं की शिकायत थी कि टिकट बंटवारे में उनकी दावेदारी की हमेशा उपेक्षा की जाती है। इस पर प्रशांत किशोर ने कहा कि महिला कार्यकर्ता उन सीटों के बारे में जानकारी दें, जहां पर दूसरी पार्टियों के टिकट पर बाहुबली चुनाव लड़ते हैं, इन सभी सीटों पर महिला उम्‍मीदवारों को टिकट दिया जाएगा।

Read Also: लखनऊ में प्रशांत किशोर की पहली बैठक: कांग्रेस नेताओं से पूछे ये 12 सवाल

बैठक के दौरान टिकट की उम्मीद लगाए कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियेां को प्रशांत किशोर ने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा कि वे सिर्फ पार्टी के भरोसे न रहें बल्कि खुद की जमीन तैयार करने पर भी ध्‍यान दें। उन्होंने कहा कि अगर आप चुनाव लड़ना चाहते हैं तो संगठन के अलावा हर बूथ तक अपने व्यक्तिगत कार्यकर्ताओं की सूची तैयार कर उन्हें सौंपे। संगठन की तय प्रक्रिया से ही टिकट बटेंगे, लेकिन जमीन पर नेता की पकड़ टिकट बंटवारे में सबसे अहम रहेगी।

Read Also: प्रशांत किशोर ने कहा- यूपी जीतना है तो ब्राह्मणों में बनाओ पैठ, कांग्रेस नेताओं में मतभेद

दो दिनों की बैठक में प्रशांत किशोर ने कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने पर जोर दिया। सूत्रों की मानें तो प्रशांत किशोर को यह फीडबैक मिल रहा है कि यूपी कांग्रेस में व्यक्तिगत कद व महत्वाकांक्षाओं में संगठन अक्सर हाशिए पर ही रहा। यही कारण है कि वह यूपी कांग्रेस के दिग्गजों को किनारे लगा सक्रिय कार्यकर्ताओं और जमीन पर पकड़ रखने वालों को आगे लाना चाहते हैं।

लखनऊ में प्रशांत किशोर की पहली बैठक: बोले- मेन टारगेट बीजेपी, कांग्रेसियों को टास्‍क और टिप्‍स भी दिए 

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री ने कहा कि निचले स्तर से सुझाव लिए जा रहे हैं कि किस प्रकार रणनीति बनाई जाए और क्या कदम उठाए जाएं, जिससे प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इलाज के अभाव में गई बेटे की जान तो डॉक्‍टर को मार दी गोली
2 पटाखे छोड़ने पर उप्र कांग्रेस अध्यक्ष को नोटिस
3 शायर मंजूर अहमद का इंतकाल
राशिफल
X