यूपीः किसान आंदोलन का नेतृत्व करने के लिए योगी के मंत्री व विधायक पर मुकदमा चलेगा, 2012 में बाधित की थी रेल सेवा

व्यावसायिक शिक्षा और कौशल विकास राज्य मंत्री अग्रवाल के अलावा सात अन्य भाजपा नेताओं ने तत्कालीन सरकार की “किसान विरोधी” नीतियों के खिलाफ एक आंदोलन के दौरान मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर हरिद्वार एक्सप्रेस को कुछ घंटों के लिए रोक दिया था।

व्यावसायिक शिक्षा और कौशल विकास राज्य मंत्री कपिल अग्रवाल मुजफ्फरनगर में रेल रोकने और विरोध प्रदर्शन करने के आरोपी हैं। (फोटो- फेसबुक)

किसानों का आंदोलन अभी खत्म नहीं हुआ है, लेकिन 2012 में उत्तर प्रदेश में हुए एक दूसरे किसान आंदोलन के दौरान कथित तौर पर ट्रेन सेवा बाधित करने के लिए योगी सरकार के राज्य मंत्री कपिल अग्रवाल सहित आठ भाजपा नेताओं पर मंगलवार को मुजफ्फरनगर के एक विशेष अदालत ने मुकदमा शुरू किया। जनप्रतिनिधियों से जुड़े मामलों की सुनवाई करने वाली अदालत ने इस मामले में सुनवाई का आदेश दिया है।

व्यावसायिक शिक्षा और कौशल विकास राज्य मंत्री कपिल अग्रवाल के अलावा सात अन्य भाजपा नेताओं ने तत्कालीन सरकार की “किसान विरोधी” नीतियों के खिलाफ एक आंदोलन के दौरान मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर हरिद्वार एक्सप्रेस को कुछ घंटों के लिए रोक दिया था। इन नेताओं में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक उमेश मलिक और पूर्व विधायक अशोक कंसल शामिल हैं।

विशेष न्यायाधीश गोपाल उपाध्याय ने रेलवे कानून की धारा 147 और 156 के तहत आरोप तय किए। हालांकि भाजपा नेताओं ने अपने को ‘निर्दोष’ बताया। न्यायाधीश ने आरोपी मंत्री और अन्य नेताओं से सवाल किया कि क्या वे रेलवे परिसर में प्रवेश करने और ट्रेन सेवा को रोकने से जुड़े आरोपों में दोषी हैं, तो उन्होंने खुद को निर्दोष बताया और सुनवाई किए जाने का अनुरोध किया। उसके बाद अदालत ने सुनवाई का आदेश दिया।

भाजपा नेताओं के खिलाफ आरोप तय करने के बाद अदालत ने सुनवाई शुरू करने के लिए 30 नवंबर की तारीख तय की। सरकारी वकील मनोज ठाकुर ने कहा कि मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को जबरदस्ती रोकने के आरोप में आठ लोगों के खिलाफ राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने तीन अप्रैल 2012 को मामला दर्ज किया था।

इधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को फिर से ‘‘अब्बाजान’’ शब्द का इस्तेमाल एक कटाक्ष के रूप में किया और चेतावनी दी कि यदि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर राज्य में माहौल खराब किया गया तो सरकार सख्ती से निपटेगी। मुख्‍यमंत्री योगी ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए उन पर समाजवादी पार्टी (सपा) के एजेंट के रूप में काम करने का आरोप लगाया।

कानपुर के निराला नगर के रेलवे मैदान में कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, ”हर व्यक्ति जानता है कि ओवैसी सपा के एजेंट बनकर प्रदेश में भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश इस दिशा में आगे बढ़ चुका है और अब दंगा मुक्त प्रदेश के रूप में उत्तर प्रदेश की पहचान है।”

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
क्लोजर रिपोर्ट पर सफाई के लिए सीबीआइ ने मांगी मोहलतCoal Scam, Coal, Coalgate, CBI, Report, National News
अपडेट