ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ का पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर निशाना, कहा- दलालों के आगे लाचार थे

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में शनिवार (2 जून) को एक कार्यक्रम के दौरान सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर निशाना साधा। सीएम योगी दलालों और बिचौलियों का जिक्र कर रहे थे।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ।

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में शनिवार (2 जून) को एक कार्यक्रम के दौरान सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर निशाना साधा। सीएम योगी दलालों और बिचौलियों का जिक्र कर रहे थे। उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए पूर्व की कांग्रेस सरकार पर हमला किया। सीएम योगी ने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद से ही दलाल और बिचौलिए खत्म हो गए हैं। अब दलालों को परेशानी हो रही है, क्योंकि उनकी दलाली नहीं चल पा रही है। इसी दौरान उन्होंने कहा कि एक प्रधानमंत्री राजीव गांधी थे, जो दलालों के आगे लाचार थे। सीएम योगी ने राजीव गांधी पर हमला बोलते हुए कहा- “30 साल पहले कांग्रेस की केंद्र में सरकार थी। तब तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि वे 100 रुपया विकास के लिए भेजते हैं पर प्रधान के पास 10 रुपया ही पहुंचता है। इसमें उनकी लाचारी भी थी। भाजपा सरकार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरा 100 रुपया प्रधान के बैंक खाते में भेजने का काम किया है।”

सीएम योगी ने कहा कि देश में पहली बार सबसे ज्यादा धनराशि प्रधानों के खाते में पहुंची है। आबादी के हिसाब से विकास के लिए इतना रुपया सांसदों, विधायकों तक को नहीं मिलता है। अब गांव के लोगों का जीवन स्तर उठेगा तो चेहरे पर खुशहाली आएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधान ग्राम समाधान दिवस आयोजित किया जाए। इसमें आपसी झगड़े पंचायत के जरिये निपटाएं जाएं। यदि जरूरत पड़े तो राजस्व और प्रशासनिक अफसरों को भी समाधान दिवस में बुलाया जाए। पंच परमेश्वर की व्यवस्था विकसित करें, ताकि गांव वालों को पुलिस और कोर्ट कचहरी के चक्कर न लगाने पड़े।

योगी ने कहा कि 268 प्रधानों से मुलाकात कर उन्हें सरकार की योजनाओं को लेकर जानकारी प्राप्त करेंगे। आम जनमानस के बीच सरकारी योजनाएं 100 प्रतिशत पहुंच रही हैं कि नहीं, इसके बारे में प्रधानों से पूरी जानकारी ली जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App