ताज़ा खबर
 

यूपी: बहनोई का हालचाल लेने गाजियाबाद के अस्‍पताल पहुंचे सीएम योगी आदित्‍यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार (6 मई) को अचानक गाजियाबाद स्थित एक बड़े अस्पताल में भर्ती अपने बहनोई का हालचाल लेने पहुंचे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बहनोई से करीब 15 मिनट की मुलाकात के बाद सीएम योगी वापस लौट गए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार (6 मई) को अचानक गाजियाबाद स्थित एक बड़े अस्पताल में भर्ती अपने बहनोई का हालचाल लेने पहुंचे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बहनोई से करीब 15 मिनट की मुलाकात के बाद सीएम योगी वापस लौट गए। सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी को ढाई बजे अस्पताल में पहुंचना था, लेकिन वह करीब ढाई घंटे की देरी से लगभग पांच बजे अस्पताल पहुंचे। इस दौरान अस्पताल और आसपास सुरक्षा का भारी बंदोबस्त देखा गया। चश्मदीदों के मुताबिक सुबह से ही भारी मात्रा में पुलिसकर्मी अस्पताल में देखे जा रहे थे। स्थानीय मीडिया के मुताबिक शहर के इंद्रापुरम के कौशांबी स्थित अस्पताल में सीएम योगी के बहनोई राजेंद्र दो दिन से भर्ती हैं, वह ब्रेन स्ट्रोक से पीड़ित बताएं जाते हैं। सीएम योगी राजेंद्र के अलावा उनकी देखभाल में लगे परिजनों से भी मिले। रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएम योगी अपने निजी दौरे में गाजियाबाद पहुंचे थे और वहां से दिल्ली के लिए रवाना हो गए थे। ॉ

बता दें कि शनिवार को सीएम योगी आंधी-तूफान से पीड़ित लोगों को आगरा के अस्पताल में देखने पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान अस्पताल की तरफ से कथित तौर पर भारी लापरवाही बरती गई थी। मीडिया में ऐसी खबरें आईं कि सीएम योगी के शहर के एसएन मेडीकल कॉलेज के दौरे के करीब पौना घंटे पहले कुछ मरीजों और उनके परिजनों को कमरों और गलियारों में बंद कर दिया गया था। कुछ मरीजों ने मीडिया को बताया कि उन्हें अस्पताल के स्टाफ के द्वारा मुंह न खोलने के लिए धमकाया गया।

कुछ मरीजों ने बताया कि अस्पताल के स्टाफ ने सीएम योगी के सामने कुछ भी बोलने पर उनके साथ मारपीट करने की धमकी दी थी। मरीजों और उनके परिजनों का कहना है कि वे सीएम योगी को अपनी समस्याएं बताकर मदद मांगना चाहते थे, लेकिन डरा-धमकाकर उनका मुंह बंद करा दिया। मामले पर मेडीकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने सभी आरोपों से इनकार किया। उन्होंने कहा कि जो भी किया गया वह सुरक्षा कारणों से किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App