ताज़ा खबर
 

सीएम योगी बोले- मुजफ्फरनगर में ही पहली बार पढ़ी गई भागवत कथा, बनारस-अयोध्या की तर्ज पर बनेगा हिंदू तीर्थस्थल

योगी ने कहा कि धार्मिक स्थलों को नई पहचान देने और स्थानीय कार्यक्रमों को वैश्विक पटल पर रखने के लिए सिर्फ ऐलान करने से काम नहीं चलेगा, बल्कि उस दिशा में काम करना होगा।

Author लखनऊ | Published on: July 15, 2019 8:21 AM
UP, Chief Minister, CM Yogi, Yogi Adityanath, expansion of Shukrataal (Shukteerath), Hindu pilgrimage, Muzaffarnagar district, Varanasi, Ayodhya and Mathura, Rs 20-crore plan, Tourism Department, beautification, pilgrimage centre, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiमुजफ्फरनगर जिले के शुक्रताल में पुजारियों के साथ मौजूद सीएम योगी आदित्यनाथ। (फोटोः Twitter@CMOfficeUP)

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को ऐलान किया कि अयोध्या, वाराणसी और मथुरा की तर्ज पर मुजफ्फरनगर जिले में हिंदू तीर्थस्थल शुक्रताल (शुकतीर्थ) का विस्तार किया जाएगा। सीएम ने इस धार्मिक स्थल के सुंदरीकरण से जुड़े पर्यटन विभाग के 20 करोड़ रुपये की योजना का शिलान्यास किया।

मुजफ्फरनगर में स्वामी कल्याणदेव की 15वीं बरसी पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल सीएम योगी ने कहा, ‘आपको देखना चाहिए था कि हमने कुंभ का आयोजन कैसे किया और वहां के इंतजाम कैसे थे। जिस तरह से हमने कुंभ का आयोजन किया, वैसे ही हम काशी, अयोध्या और मथुरा में काम कर रहे हैं।’

योगी ने कहा कि धार्मिक स्थलों को नई पहचान देने और स्थानीय कार्यक्रमों को वैश्विक पटल पर रखने के लिए सिर्फ ऐलान करने से काम नहीं चलेगा, बल्कि उस दिशा में काम करना होगा। योगी के मुताबिक, ऐसे स्थलों की मौलिकता को बरकरार रखते हुए आधुनिकता अपनानी होगी।

योगी ने कहा कि काशी, मथुरा, अयोध्या और वृंदावन में चल रहे विकास कार्यों की तर्ज पर शुकतीर्थ को भी विकसित करना होगा। अपने दो घंटे के दौरे में योगी शुकतीर्थ मंदिर भी गए और वहां एक आधुनिक भगवत कथा भवन का मॉडल लोगों के सामने रखा। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर का प्राचीन इतिहास रहा है और यही वो जगह है जहां 5 हजार साल पहले पहली बार भागवत कथा पढ़ी गई थी।

योगी ने गोरक्षा के मुद्दे पर भी बात की। सीएम ने कहा कि शुरुआत में एकल परिवार ही सैकड़ों गायों की देखरेख करते थे और अब लोग डेयरी पर निर्भर हैं। सीएम के मुताबिक, सरकार गायों की देखरेख में मदद कर रही है और संबंधित संस्थाओं को पैसा दिया जा रहा है ताकि गाय सड़क पर न भटकें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गायों की मौत पर भड़के सीएम योगी आदित्यनाथ, कई अधिकारियों को किया सस्पेंड, डीएम को भी नोटिस
2 Bihar News Today, 15 July 2019: बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर, चार की मौत, 18 लाख लोग प्रभावित
3 गोवा-कर्नाटक की उठापटक से MP में घबराई कांग्रेस? कमल नाथ ने 11 दिन में तीसरी बार बुलाई विधायकों की बैठक