ताज़ा खबर
 

यूपी: और भड़की यादव परिवार में लगी आग, मुलायम ने अमर सिंह को फोन कर कहा- हद में रहेंं

मीडिया के अनुसार मुलायम सिंह यादव को यूपी के दो मंत्रियों गायत्री प्रजापति और राज किशोर सिंह को मंत्रिमंडल से निकालने का आदेश देने की सलाह अमर सिंह ने ही दी थी

Author Published on: September 16, 2016 11:32 AM
अमर सिंह (बाएं) और समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश में मचे राजनीतिक घमासान के बीच समाजवादी पार्टी के राज्य सभा सांसद अमर सिंह का नाम इस पूरे संकट के सूत्रधार के तौर पर दबी जुबान से लिया जा रहा है। पहले यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि कुछ “बाहरी लोग” उनके पिता और पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव को गलत सलाह दे रहे हैं। उसके बाद मुलायम के भाई और पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि कुछ बाहरी लोग नेताजी (मुलायम) की सरलता का लाभ उठा रहे हैं। मीडिया के अंदरूनी हलकों में माना गया कि अखिलेश और रामगोपाल जिस “बाहरी आदमी” की बात कर रहे हैं वो कोई और नहीं पार्टी में हाल ही में घर वापसी करने वाले अमर सिंह हैं। मीडिया में आ रही खबरों की मानें तो गुरुवार (15 सितंबर) को मुलायम ने अमर को फोन करके कहा है कि वो खुद को राज्य सभा तक सीमित रखें, समाजवादी पार्टी या यूपी सरकार के मामलों में हर्गिज दखल न दें।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार गुरुवार शाम को मुलायम ने अमर सिंह को फोन करके उन्हें गुमराह करने के लिए फटकार लगाई। अखबार के अनुसार मुलायम सिंह यादव को यूपी के दो मंत्रियों गायत्री प्रजापति और राज किशोर सिंह को मंत्रिमंडल से निकालने का आदेश देने की सलाह अमर सिंह ने ही दी थी। मुलायम के आदेश पर अमल करते हुए अखिलेश ने दोनों मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। माना जा रहा है कि अमर सिंह ने आरोप लगाया था कि दोनों मंत्री भ्रष्ट हैं और उनकी वजह से पार्टी की छवि खराब हो रही है। हालांकि मुलायम को बाद में बताया गया कि अमर के आरोप “निराधार” थे।

अमर सिंह को सपा में शिवपाल यादव का करीबी समझा जाता है। गुरुवार रात को शिवपाल ने अखिलेश मंत्रिमंडल और पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। मीडिया खबरों के अनुसार शिवपाल ने ये फैसला सीएम अखिलेश से मुलाकात के बाद लिया। माना जा रहा है कि ताजा विवाद में मुलायम सिंह यादव भी बेटे अखिलेश का ही पक्ष ले रहे हैं। इसलिए शिवगोपाल ने पार्टी और सरकार से बाहर जाने का विकल्प चुन लिया। यूपी में अगले साल विधान सभा चुनाव होने वाले हैं। समाजवादी पार्टी के प्रथम परिवार में जारी खींचतान को उसी सत्ता संघर्ष से जोड़कर देखा जा रहा है।

शिवपाल यादव का मंत्री पद और उत्तर प्रदेश कैबिनेट से इस्तीफ़ा, भतीजे अखिलेश यादव ने छीने थे सभी अहम विभाग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X