ताज़ा खबर
 

देवरिया : नशे में धुत कार ड्राइवर ने भीड़ को रौंदा, आठ की मौत

बताया गया कि कार चालक समेत कार में सवार सभी पांच युवक नशे में धुत थे। वे रुद्रपुर के वैवाहिक कार्यक्रम से लौट रहे थे।

Author देवरिया | April 21, 2016 3:14 AM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

कथित रूप से शराब के नशे में धुत ड्राइवर ने सोमवार को क्षेत्र के पननहा गांव में सांस्कृतिक नृत्य व गायन कार्यक्रम देख रही भीड़ को कार से रौंद दिया। यह कार्यक्रम धार्मिक कार्यक्रम के बाद आयोजित हुआ था। हादसे में आठ व्यक्तियों की मौत हो गई और 31 व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जिला प्रशासन ने बुधवार को घोषणा की कि मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख व घायलों को 50-50 हजार रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष से दिए जाएंगे।

थाना गौरीबाजार क्षेत्र के पननहा गांव में सोमवार की रात्रि में रामदास के घर पर धार्मिक कार्यक्रम हुआ था। इसके बाद सांस्कृतिक नृत्य एवं गायन का कार्यक्रम शुरू हुआ। रात लगभग 11 बजे श्रोताओं की भीड़ सड़क पर खड़ी होकर कार्यक्रम देख रही थी। इसी बीच रुद्रपुर की ओर से एक तेज रफ्तार कार आई और सीधे भीड़ को रौंदते हुए खेत में जाकर पलट गई। मौके पर ही तत्काल सात लोगों की मौत हो गई और 32 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को देवरिया जिला अस्पताल भर्ती कराया गया। अस्पताल में दूसरे दिन मंगलवार को एक घायल ने दम तोड़ दिया।

सूचना मिलने पर जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव व पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने घटनास्थल पर पहुंचकर निरीक्षण किया और जिला अस्पताल में भर्ती घायलों का हाल जानने के लिए देवरिया अस्पताल गए। देवरिया जिला अस्पताल से भर्ती गंभीर घायलों को गोरखपुर मेडिकल कालेज भेज दिया गया। थानाध्यक्ष गौरीबाजार अनिल पांडेय के अनुसार पुलिस ने क्षतिग्रस्त कार से शराब की कई बोतलें बरामद की हैं। बताया जाता है कि हादसे के वक्त कार में पांच व्यक्ति सवार थे। इनमें से ग्रामीणों ने दो व्यक्तियों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया जबकि तीन फरार हो गए। बताया गया कि कार चालक समेत कार में सवार सभी पांच युवक नशे में धुत थे। वे रुद्रपुर के वैवाहिक कार्यक्रम से लौट रहे थे। तभी बेकाबू कार ने पननहा गांव की सड़क पर नृत्य देख दर्शकों की भीड़ को रौंद दिया।

पुलिस ने इन सभी के खिलाफ गौरीबाजार थाना में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार आठ मृतकों के नाम हैं : पारस (65), दिनेश यादव (35), विभूति देवी (60), सुशीला देवी (45), ऋषिकेश मौर्य (30), छेदी (45), सोहन कानू (50) औक चन्द्रभान गौड़ (55)। जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव ने बुधवार को बताया है कि सड़क दुर्घटना में मरे लोगों के परिजनो को मुख्यमंत्री राहत कोष से दो-दो लाख की सहायता राशि दी जाएगी। घायल व्यक्तियों के परिजनों को 50-50 हजार की सहायता राशि दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App