ताज़ा खबर
 

उपचुनाव नतीजे 2018: केशव प्रसाद मौर्य बोले- सोचा नहीं था वोट सपा को चले जाएंगे, तैयारी करनी पड़ेगी

UP Phulpur, Gorakhpur Lok Sabha Bypoll Election Result 2018 (उप फूलपुर, गोरखपुर लोक सभा उपचुनाव नतीजे 2018): गोरखपुर लोकसभा सीट योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद खाली हुई थी। इस सीट पर सपा ने विजयी बढ़त बना ली है। वहीं फूलपुर लोकसभा सीट केशव प्रसाद मौर्य के डिप्टी सीएम बनने के बाद खाली हुई थी। इस सीट पर भी सपा ने ही बढ़त बनाई हुई है। दोनों सीटों के लिए बीएसपी ने सपा को समर्थन दिया था।

केशव प्रसाद मौर्य (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को बीएसपी और सपा से जोरदार झटका मिल रहा है। दोनों सीटों पर समाजवादी पार्टी ने जबरदस्त बढ़त बना ली है। सपा के शानदार प्रदर्शन से यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य काफी हैरान हैं। उनका कहना है कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि बीएसपी के इतने ज्यादा मतदाता सपा को वोट देंगे। उन्होंने नतीजों पर हैरानी जताते हुए कहा, ‘हमने सोचा भी नहीं था कि इतने ज्यादा मात्रा में बीएसपी के वोट सपा को चले जाएंगे। हम अंतिम निर्णय देखने के बाद विश्लेषण करेंगे और भविष्य के लिए तैयारी करेंगे। जब कांग्रेस, सपा और बीएसपी एक साथ आ सकते हैं तो अब हमें भी साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की रणनीति बनानी होगी।’

बता दें कि गोरखपुर लोकसभा सीट योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद खाली हुई थी। इस सीट पर सपा ने विजयी बढ़त बना ली है। वहीं फूलपुर लोकसभा सीट केशव प्रसाद मौर्य के डिप्टी सीएम बनने के बाद खाली हुई थी। इस सीट पर भी सपा ने ही बढ़त बनाई हुई है। दोनों सीटों के लिए बीएसपी ने सपा को समर्थन दिया था। सपा को जीतता देख बीएसपी और सपा के कार्यकर्ता लखनऊ में जश्न मना रहे हैं। कार्यकर्ता एक दूसरे को गुलाल लगाकर खुशी मना रहे हैं और ‘बुआ-बबुआ जिंदाबाद’ के नारे भी लगा रहे हैं। वहीं बीजेपी के खेमे में सन्नाटा पसरा हुआ है।

गोरखपुर से सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद अपने करीबी प्रतिद्वंदी और भाजपा उम्मीदवार उपेंद्र दत्त शुक्ला से 28,737 से ज्यादा मतों से आगे चल रहे हैं। भाजपा इस सीट पर सात बार कब्जा जमा चुकी है। फूलपुर में समाजवादी प्रत्‍याशी नागेंद्र सिंह 39,681 वोटों से आगे चल रहे हैं। वहीं बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर भी उपचुनाव हुए थे। इस चुनाव के लिए भी मतगणना जारी है। यहां भी बीजेपी पिछड़ती हुई दिखाई दे रही है। अररिया में आरजेडी बीजेपी से काफी आगे चल रही है। सोशल मीडिया पर भी बीजेपी को हारता देख लोगों ने प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी है। लोगों का कहना है कि नरेश अग्रवाल को शामिल करने के कारण भगवान श्रीराम नाराज हो गए और इसी वजह से बीजेपी को हार का सामना करना पड़ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App