ताज़ा खबर
 

Kanpur: जयमाल के वक्त कांपे दूल्हे के हाथ तो दुल्हन ने तोड़ दी शादी, रात भर चला मान-मनौव्वल, फिर भी बैरंग लौटी बारात

दूल्हा स्टेज पर पहुंचा तो दोनों पक्षों के लोग बेसब्री से जयमाल का इंतजार करने लगे। लेकिन इस दौरान दुल्हन को जयमाल पहननाने के वक्त उसके कांपते हुए हाथ- पैर देख दुल्हन भड़क उठी और वरमाला तोड़ते हुए स्टेज से लौट गई।

प्रतीकात्मक चित्र फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक युवती द्वारा जयमाल के दौरान ही शादी करने से इंकार कर देने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि जैसे ही दूल्हा और दुल्हन अपने- अपने हाथो में जयमाल लेकर एक दूसरे को पहनाने के लिए खड़े हुए, उस समय दूल्हे का हाथ कांपने लगा। यह देखकर युवती भड़क उठी और दूल्हे के बीमार होने की बात कह कर स्टेज से वापस लौट गई। इसके बाद दोनों पक्षों में पूरी रात पंचायत चलती रही, लेकिन बात नहीं बन पाई और बारात को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा।

National Hindi News, 17 May 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरों के लिए क्लिक करें 

क्या है मामला: यह मामला बिधनू थाना क्षेत्र स्थित सेनिया गांव का है। जहां बाबू प्रसाद ने बेटी ज्योति की शादी कुढनी के ढुकवापुर गांव में रहने वाले बैजनाथ पाल के बेटे अरुण पाल से तय की थी। अरुण पाल धूम-धाम के साथ बुधवार (15 मई) को बारात लेकर सेनिया गांव पहुंचा था। इसके बाद दूल्हा अरुण स्टेज पर पहुंचा तो दोनों पक्षों के लोग बेसब्री से जयमाल का इंतजार करने लगे। लेकिन इस दौरान दुल्हन को जयमाल पहननाने के वक्त अरुण के कांपते हुए हाथ- पैर देख दुल्हन ज्योति भड़क उठी वरमाला तोड़ते हुए स्टेज से लौट गई। बताया जा रहा है कि सुलह के लिए दोनों पक्षों में पूरी रात और अगले दिन सुबह तक पंचायत चलती रही, लेकिन बात नहीं बन पाई और बारात को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा।

दूल्हे के बीमार होने की कही बात: दुल्हन के पिता ने बताया कि जब बेटी से शादी नही करने की वजह पूछी गई तो तो उसने कहा कि दूल्हा बीमार है। युवती ने कहा कि जिसके हाथ-पैर अभी से कांप रहे है वो जिंदगी भर साथ कैसे निभाएगा? उन्होंने कहा कि लड़के वालों ने यह बात छिपाकर रखी थी कि लड़के को पैरालिसिस का अटैक पड़ चुका है। यदि ये बात पहले पता होती तो मै अपनी बेटी की शादी ऐसी जगह पर नहीं करता।

दूल्हे के पिता का बयान: दूल्हे के पिता का कहना है कि अरुण को करीब दो साल पहले पैरालिसिस का अटैक पड़ा था। जिसका इलाज अभी भी चल रहा है। डाक्टरों ने जल्द स्वस्थ्य होने की बात कही थी ऐसे में हमारा मकसद लड़की वालों से बीमारी की बात छिपाने का नहीं था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App