ताज़ा खबर
 

जूतामार सांसद’ का बीजेपी कार्यक्रम में ही विरोध! तोड़ डाली कुर्सियां, जमकर हुआ हंगामा

Loksabha election: यह कार्यक्रम बीजेवाईएम के विजय लक्ष्य 2019 अभियान के तहत संत कबीर नगर के मेहदावल स्थित जगतगुरु शंकराचार्य इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया था।

Author Updated: April 14, 2019 8:31 AM
loksabha election: शरद त्रिपाठी और विधायक बघेल में हाथापाई हो गई थी। (pc- ANI)

Loksabha Election: भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के एक कार्यक्रम को शनिवार को स्थगित करना पड़ा। आरोप है कि बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल के कुछ समर्थकों ने आयोजन स्थल पर जमकर बवाल काटा और कुर्सियां तक तोड़ डालीं। इस कार्यक्रम में बीजेपी राज्य ईकाई अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे और बीजेवाईएम के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष यदुवंश को भी शामिल होना था। गोरखपुर क्षेत्र के बीजेवाईएम प्रभारी रंजीत राय का दावा है कि बवाल करने वाले लोग एसपी और बीएसपी ने भेजे थे। वहीं, बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने द संडे एक्सप्रेस को बताया कि नारेबाजी करने वाले बघेल के समर्थक थे। बता दें कि यह कार्यक्रम बीजेवाईएम के विजय लक्ष्य 2019 अभियान के तहत संत कबीर नगर के मेहदावल स्थित जगतगुरु शंकराचार्य इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया था।

पिछले महीने विकास से जुड़े प्रोजेक्ट में शिलालेख पर नाम के विवाद में संत कबीर नगर से सांसद शरद त्रिपाठी और विधायक बघेल में हाथापाई हो गई थी। झगड़े का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसमें शरद त्रिपाठी बघेल पर जूते बरसाते नजर आ रहे थे। बघेल ने भी हाथापाई की कोशिश की, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने दखल देकर दोनों को किसी तरह अलग किया, जिसके बाद त्रिपाठी कमरे के बाहर चले गए थे।

आरोप है कि शनिवार को कथित तौर पर बघेल के समर्थकों ने ‘शरद त्रिपाठी बाहर जाओ’ की तख्तियां लेकर नारेबाजी की। इसके बाद, दोनों नेताओं के समर्थकों ने अपने-अपने नेता के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। राय ने कहा कि पार्टी की सीनियर लीडरशिप ने इस मामले पर संज्ञान लिया है और जल्द ही ऐक्शन लिया जा सकता है। क्या इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी, इस सवाल के जवाब में राय ने कहा कि अभी तक ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया है। हालांकि, अगर सीनियर नेता निर्देश देते हैं तो एसपी और बीएसपी सदस्यों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

राय ने कहा, ‘शनिवार को हुई घटना को पूर्व में बीजेपी सांसद और विधायक के बीच हुई घटना से जोड़कर नहीं देखना चाहिए क्योंकि वे दोनों कार्यक्रम में मौजूद नहीं थे। ऐसा करने वाले एसपी और बीएसपी के समर्थक थे, जो हमारे लिए समस्या पैदा करना चाहते थे।’ वहीं, राय के दावे के उलट त्रिपाठी ने कहा कि बवाल करने वाले बघेल के समर्थक थे।

Next Stories
1 राम मंदिर के लिए दिग्विजय सिंह ने की जमीन की पेशकश, भड़क गई बीजेपी
2 पानी की समस्या से परेशान महिलाओं से बीजेपी सरकार के मंत्री ने पूछा- मुझे वोट क्यों नहीं दिया
3 केजरीवाल बोले- अगर पूर्ण राज्य होता तो 24 घंटे में सीलिंग रुकवा देते, यूजर्स लेने लगे मजे
ये पढ़ा क्या?
X