ताज़ा खबर
 

लखनऊ: बीजेपी नेता की चाकुओं से गोदकर हत्‍या, लिए पांच लोगों के नाम

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक नेता की लखनऊ में चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

Author लखनऊ | Updated: December 4, 2018 1:33 PM
लखनऊ में भाजपा नेता की हत्या

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक नेता की लखनऊ में चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। प्रत्यूष मणि त्रिपाठी (34) पर सोमवार को बादशाहनगर में कुछ अज्ञात लोगों ने तेजधार हथियार से हमला किया। रास्ते से गुजर रहे लोगों ने त्रिपाठी को लहूलुहान हालत में देखा। हमलावरों की पहचान नहीं हो पाई है क्योंकि किसी के घटनास्थल पर पहुंचने से पहले ही वे फरार हो गए थे। भाजपा नेता को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के ट्रॉमा सेंटर में ले जाया गया लेकिन तड़के लगभग तीन बजे उनकी मौत हो गई।

उनकी पत्नी का कहना है कि वह पांच लोगों के नाम ले रहे थे, जिन्होंने उन पर हमला किया। उनके परिवार के सदस्यों ने कहा कि त्रिपाठी का छेड़छाड़ की घटना को लेकर कुछ दिन पहले अपने पड़ोसियों से विवाद हो गया था। अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में उनके समर्थकों ने अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया, पुलिस के विरोध में नारेबाजी की और लखनऊ पुलिस के वरिष्ठ अधीक्षक कलानिधि नैथानी की तुरंत बर्खास्तगी की मांग की। उग्र भीड़ ने आरोप लगाया कि त्रिपाठी ने जिला पुलिस प्रमुख को बताया था कि उन्हें जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। उन्होंने सुरक्षा की मांग की थी  लेकिन उनके आग्रह पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

मौत की से प्रत्यूष मणि त्रिपाठी  के घर में शोक की लहर है। उनकी पत्नी सीमा त्रिपाठी बिलखकर रो रही हैं। उन्होंने बताया कि 25 नवंबर को भी कुछ लोग उनके घर में आकर उन्हें और उनके परिजोंन को परेशान किए थे। प्रत्यूष की एक बेटी रुद्राक्षी, बेटे वंश व दो महीने की बच्ची के पिता थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: राम मंदिर निर्माण को लेकर नागा साधु, संतों का अयोध्‍या कूच
2 UP Bulandshahar Violence: राज्यपाल ने घटना पर जतायी नाराजगी, कहा- दोषी को सख्त सजा दी जाएगी
3 बुलंदशहर हिंसा: दो हिरासत में, बजरंग दल, विहिप, भाजयुमो कार्यकर्ता समेत 87 के खिलाफ FIR
ये पढ़ा क्या?
X