scorecardresearch

Biometric Mandatory: बायोमेट्रिक अनिवार्य है, देर से दफ्तर आने वालों का कटेगा वेतन, योगी के मंत्री दयाशंकर मिश्र ने जारी किया आदेश

Campaign for Ayush Dispensary: मंत्री ने आगे कहा, बाजारों में बेची जा रही नकली दवाइयों को रोकने के लिए आयुष डिस्पैंसरियों को बढ़ावा दिया जाए। आयुष चिकित्सा पद्धति का ज्यादा से ज्यादा प्रचार किया जाए।

Biometric Mandatory: बायोमेट्रिक अनिवार्य है, देर से दफ्तर आने वालों का कटेगा वेतन, योगी के मंत्री दयाशंकर मिश्र ने जारी किया आदेश
Ayush department: देर से दफ्तर आने वालों को योगी सरकार का फरमान (Photo- File)

Department of AYUSH: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आयुष खाद्य विभाग के कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं को वो अब समय से दफ्तर आएं और सभी कर्मचारी बायोमेट्रिक अटेंडेंस जरूर लगाएं। योगी सरकार ने कहा जो भी कर्मचारी देर से ऑफिस आएगा उसका वेतन काटा जाएगा। खाद्य सुरक्षा एवं आयुष मंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु ने सभी कार्यालयों को ये निर्देश दिया है कि सभी कर्मचारी अपने बायोमेट्रिक का इस्तेमाल करें। दयाशंकर मिश्र के जारी किए गए। जो भी कर्मचारी लेट दफ्तर आएगा उसे लेट-लतीफी भारी पड़ेगी।

योगी सरकार के इस आदेश के बाद आयुष विभाग के कर्मचारियों को देर से दफ्तर आना भारी पड़ेगा। इस आदेश के मुताबिक अगर कोई कर्मचारी दफ्तर पहुंचने में 10 मिनट से अधिक देरी करता है तो उन्हें उस दिन अनुपस्थित माना जाएगा और वेतन में कटौती की जाएगी। यह निर्देश सीएम योगी के आयुष राज्यमंत्री दया शंकर मिश्र दयालु ने जारी किए हैं। उन्होंने ये भी कहा कि जिन होम्योपैथी, आयुर्वेद और यूनानी विभाग के दफ्तरों में बायोमेट्रिक न लगी हों वहां उसकी व्यवस्था करवाई जाए।

मंगलवार को हुई थी समीक्षा बैठक

इसके पहले मंगलवार को सूबे की राजधानी लखनऊ में आयुर्वेदिक एवं यूनानी औषधि निर्माणशाला के आडिटोरियम में विभागीय समीक्षा बैठक हुई थी। इस बैठक में मंत्री ने स्पष्ट रूप से ये बात कही थी कि यहां काम करने वाले सभी कर्मचारी हर हाल में सुबह 10 बजे अपने दफ्तर पहुंच जाएं अगर कोई 10 बजकर 10 मिनट के बाद दफ्तर पहुंचता है तो उस दिन वो अनुपस्थित माना जाएगा। इसके साथ ही अधिकारियों को बायोमीट्रिक उपस्थिति की मानीटरिंग करने का भी निर्देश जारी किया गया है।

आयुष चिकित्सालयों को योगी सरकार का बढ़ावा

मंत्री दयाशंकर ने आयुष अस्पतालों के लिए लोगों की डोनेट की गई जमीनों पर से अतिक्रमण का कब्जा हटवाया। मंत्री ने आगे कहा, बाजारों में बेची जा रही नकली दवाइयों को रोकने के लिए आयुष डिस्पैंसरियों को बढ़ावा दिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि आयुष चिकित्सा पद्धति का ज्यादा से ज्यादा प्रचार किया जाए। इसके अलावा आयुष चिकित्सालयों में दी जा रही दवाओं की समय-समय पर जांच भी करवाई जाए ताकि एक्सपायरी दवाओं को तुरंत प्रभाव से नष्ट किया जा सके।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट