ताज़ा खबर
 

मोदी-मुलायम को हराने के लिए नई पार्टी बना कर यूपी में चुनाव लड़ेंगे नीतीश

जन विकास पार्टी के नाम से नीतीश कुमार की जदयू और अजित सिंह की रालोद(राष्‍ट्रीय लोक दल) एक होने जा रही है।

Author पटना | Updated: April 14, 2016 12:19 PM
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए नया गठबंधन होने जा रहा है। इसके जरिए नीतीश कुमार, अजित सिं‍ह और राहुल गांधी को साथ लाया जाएगा। जन विकास पार्टी के नाम से नीतीश कुमार की जदयू ओर अजित सिंह की रालोद(राष्‍ट्रीय लोक दल) एक होने जा रही है। यह पार्टी कांग्रेस के साथ 2017 विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन की योजना बना रही है।

सूत्रों के अनुसार अजित सिंह ने उनके बेटे जयंत चौधरी को मुख्‍यमंत्री पद का उम्‍मीदवार बनाए जाने की मांग की है। हालांकि कांग्रेस गठबंधन कर सकती है लेकिन वह सीएम पद के लिए पद अपने उम्‍मीदवार के लिए जोर देगी। चौधरी को डिप्‍टी सीएम के रूप में पेश किया जा सकता है। जदयू के एक वरिष्‍ठ नेता ने इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया,’ हम अंधेरे में तीर चला रहे हैं। लेकिन इसमें कुछ गलत नहीं है। यदि हम कांग्रेस के साथी बन जाते हैं तो हम 80-100 सीटें जीत सकते हैं। यदि हम यूपी में हमारी उपस्थिति दर्ज कराने में सफल रहते हैं तो यह ऐतिहासिक होगा। 2019 में नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए यही एक तरीका है।’

Read Also: प्रशांत किशोर ने कहा- यूपी जीतना है तो ब्राह्मणों में बनाओ पैठ, कांग्रेस नेताओं में मतभेद

सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार कुर्मी हैं और अजित सिंह जाट हैं। यूपी में 57 सीटों पर जाटों का दबदबा है तो 190 पर सीटों पर कोयरी और कुर्मी मिलकर 5 प्रतिशत जनसंख्‍या है।कांग्रेस के साथ आने से वे ब्राह्मण और मुस्लिम मतों को भी लुभा सकते हैं। जन विकास पार्टी बनने पर नीतीश कुमार ही अध्‍यक्ष होंगे। इस गठजोड़ में झारखंड विकास मोर्चा के बाबूलाल मरांडी भी जुड़ने की चाहत रखते हैं। इस पार्टी का चुनाव चिन्‍ह चक्र हो सकता है। पहले यह निशान जनता दल के पास था। जनता दल के टूटने के बाद से यह किसी को आवंटित नहीं किया गया है।

Read AlsoUP में भी महागठबंधन बनाने की तैयारी में प्रशांत किशोर, कांग्रेस से महान दल व पीस पार्टी ने मिलाए हाथ

 

Read Original Copy hereWith new front, Nitish seeks to extend reach to UP

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories