ताज़ा खबर
 

यूपी: एनकाउंटर का खौफ, खुद सरेंडर करने थाने पहुंचा 15 हजार का इनामी बदमाश, सुनें क्या कहा

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के मन में एनकाउंटर का डर इस कदर बैठ गया है कि अब वे खुद पुलिस के आगे सरेंडर कर रहे हैं। हापुड़ जिले के बाबूगढ़ थाने में भी कुछ ऐसा ही हुआ। आरोपी ने कैमरे के सामने अपना गुनाह कबूल किया।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के मन में एनकाउंटर का डर इस कदर बैठ गया है कि अब वे खुद पुलिस के आगे सरेंडर कर रहे हैं। हापुड़ जिले के बाबूगढ़ थाने में भी कुछ ऐसा ही हुआ। सेंट्रो कार लूटने और एक शख्स को गोली मारने के 15 हजार रुपये के ईनामी आरोपी ने एनकाउंटर के डर से बाबूगढ़ थाने में सरेंडर कर दिया। ईटीवी भारत यूपी नाम के फेसबुक पेज पर आरोपी और पुलिस का एक वीडियो शेयर किया गया है, जिसमें आरोपी अपना गुनाह कबूलते हुए पुलिस के भय की बात बता रहा है। आरोपी बताता है कि उसका नाम अंकित कुमार है। आरोपी वीडियो में  कहता हुए दिख रहा है कि काफी समय से पुलिस उसके घर पर दबिश दे रही थी, एनकाउंटरों को देखते हुए रिश्तेदारों ने सरेंडर करने की सलाह दी। आरोपी कहता है कि पुलिस के भय से सरेंडर कर दिया। आरोपी यह भी बताता है कि 15 हजार रुपये का ईनाम उसके सिर रखा गया है।

वीडियो में आरोपी अपना गुनाह कबूलते हुए बताता है कि उसने सेंट्रो गाड़ी से लूट की थी और कार वाले को गोली मारी थी। पुलिस ने बताया कि 22 तारीख को बाबूगढ़ क्षेत्र में सेंट्रो गाड़ी से लूट हुई थी, जिसमें एक अभियुक्त को जेल भेजा गया था, दूसरे अभियुक्त के ऊपर 15 हजार रुपये का ईनाम रखा गया था। दूसरा अभियुक्त फरार चल रहा था। पुलिस उसकी खोज में थी। लेकिन उसने गुरुवार (8 फरवरी) को पुलिस के डर से अपने असलहे के साथ सरेंडर कर दिया। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि आरोपी बता रहा है सीआईएसएफ में नौकरी करता है। यूपी में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से बदमाशों के एनकाउंटरों की तादात में खासा इजाफा हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 महीनों में पुलिस ने 942 एनकाउंटरों में 35 अपराधियों को मार गिराया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कई दफा अपने भाषणों में कह चुके हैं कि वह राज्य को अपराध मुक्त बनाएंगे। सीएम योगी कई समारोहों पर कह चुके हैं कि बदमाश या तो आपराध का रास्ता छोड़ दें या उत्तर प्रदेश छोड़कर चले जाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App