ताज़ा खबर
 

शख्स ने पोस्ट की बाबा रामदेव की आपत्तिजनक फोटोशॉप्ड तस्वीर, यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस ने योग गुरु रामदेव की फोटोशॉप्ड कर तैयार की गई आपत्तिजनक तस्वीर को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर एक वॉट्सऐप ग्रुप में डालने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया है। 40 वर्षीय आरोपी की पहचान रशीशुद्दीन के तौर पर हुई है...

योग गुरु रामदेव। (एक्सप्रेस फाइल फोटोः गजेंद्र यादव)

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस ने योग गुरु रामदेव की फोटोशॉप्ड कर तैयार की गई आपत्तिजनक तस्वीर को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर एक वॉट्सऐप ग्रुप में डालने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा पुलिस ने शनिवार (23 जून) को 40 वर्षीय शख्स को गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान रशीशुद्दीन के तौर पर हुई है, जो कि दादरी का रहने वाला बताया जा रहा है। आरोपी की गिफ्तारी आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज होने के बाद हुई। कहा जा रहा है कि पुलिस ने आरोपी को उसके घर से ही दबोच लिया। एडिट कर तैयार की गई आपत्तिजनक तस्वीर में लोगों के समूह से घिरे रामदेव टांग ऊपर उठाए दिखाए गए हैं। पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर और पतंजलि योगपीठ के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण ने आरोपी को दबोचे जाने के बाद ट्वीट कर नोएडा पुलिस की तारीफ की।

आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट में लिखा, ”पतंजलि व श्रद्धेय स्वामी जी को अपमानित करने वाले विकृत मानसिकता से ग्रसित असामाजिक षड्यंत्रकारी दुष्टों पर त्वरित कार्रवाई कर गिरफ्तार करने के लिए नोएडा पुलिस टीम को बधाई।” इस बीच, पतंजलि प्रोडक्ट्स के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा, ”किसी को बदनाम करने के लिए किया गया अश्लील प्रयास उतना ही जघन्य है जैसे कि बलात्कार और और किसी की आबरू पर हमला।” आरोपी ने पुलिस को बताया कि दोस्त से मिले मैसेज को उसने आगे बढ़ाया था।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

बता दें कि 21 जून को योग दिवस के मौके पर राजस्थान के कोटा में योग गुरु रामदेव ने एक लाख से ज्यादा लोगों को योग कराकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इस मौके पर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी योग के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों ने पतंजलि योगपीठ के साथ-साथ राजस्थान सरकार और कोटा के जिला प्रशासन को विश्व रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा था। इस मौके पर ड्रोन कैमरों की मदद से योग के कार्यक्रम में शामिल लोगों की गिनती की गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App