ताज़ा खबर
 

सहारनपुर: दो समुदायों में संघर्ष, एक की मौत

जिले के शब्बीरपुर गांव में महाराजा प्रताप जयंती के अवसर पर डीजे बजाने को लेकर राजपूत और दलित समाज में शुक्रवार को संघर्ष हुआ।

Author सहारनपुर | May 6, 2017 12:41 AM
फाइल फोटो

सुरेंद्र सिंघल
जिले के शब्बीरपुर गांव में महाराजा प्रताप जयंती के अवसर पर डीजे बजाने को लेकर राजपूत और दलित समाज में शुक्रवार को संघर्ष हुआ। दलितों की पत्थरबाजी के कारण राजपूत युवक की मौत हो गई और 12 से अधिक लोग जख्मी हो गए। यह सूचना मिलने पर गांव शिमलाना से लोग आ गए। इसके बाद शब्बीरपुल गांव के दलितों के घरों में तोड़फोड़ और आगजनी की गई। पुलिस के वाहनों में तोड़फोड़ की गई और एक पुलिसकर्मी की स्कूटी में आग लगा दी गई। तनाव बढ़ने के बाद गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है। इस हादसे की जानकारी लेने पहुंचे मीडियाकर्मियों पर भी हमला किया गया।

आइजी मेरठ जोन अजय आनन्द ने बताया कि शब्बीरपुर गांव से राजपूत युवक गांव शिमलाना के कॉलेज प्रांगण में महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण के लिए जा रहे थे। वे अपने साथ डीजे भी लेकर जा रहे थे। इस पर दलितों ने एतराज किया। गांव का प्रधान अनुसूचित जाति का है। प्रधान ने थाना बडगांव पुलिस को सूचित किया और पुलिस से डीजे बंद कराने की मांग की। मौके पर पहुंची पुलिस ने कार्यक्रम में शिमलाना जा रहे युवकों को गांव से रवाना कर दिया। आरोप है कि कुछ देर बाद कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जा रहे युवकों पर दलित युवकों ने पथराव कर दिया। यह खबर शिमलाना पहुंचते ही वहां से दर्जनों लोग शब्बीरपुर पहुंच गए और दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया।

HOT DEALS
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 14210 MRP ₹ 30000 -53%
    ₹1500 Cashback
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback

लोगों ने दलितों के बिटौड़ों में आग लगा दी और कई घरों में तोड़फोड़ की। पुलिस के कई वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई। एक पुलिसकर्मी की स्कूटी को आग के हवाले कर दिया गया। कवरेज करने पहुंचे मीडियाकर्मियों पर भी हमला किया गया। आग बुझाने के लिए पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई। गांव की एक दलित बस्ती में पुलिस के सामने ही आगजनी शुरू हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तारा देवी, ऋषिपाल, दलसिंह, सौदास, अश्वनी, पवन आदि के घरों में आग लगाई गई। इस क्रम में बृजेश की दुकान भी जला दी गई। दलितों का आरोप है कि राजपूतों ने उनके घरों में आगजनी की।

आइजी मेरठ जोन अजय आनन्द ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और उपद्रवियों को चिह्नित कर रात में उनकी गिरफ्तारी की जा सकती है। पथराव में देवबंद के गांव रसूलपुर टांक निवासी 26 वर्षीय राजपूत युवक सुमित पुत्र ब्रह्मसिंह की मौत हो गई। उसका पोस्टमार्टम किया गया और रात में रसूलपुर में अंतिम संस्कार कर दिया गया। बसपा के नेता ने देर रात डीएम एनपी सिंह से मुलाकात की और दलितों का पक्ष रखा। डीआइजी जितेन्द्र शाही, डीएम नागेन्द्र प्रसाद सिंह, एसएसपी सुभाष चन्द्र द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे। गांव में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। वहां पुलिस और पीएसी की तैनाती की गई है। शासन ने घटना की रिपोर्ट मांगी है। देर रात खबर लिखे जाने तक उच्चाधिकारी देर रात रिपोर्ट तैयार कर भेजने में लगे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App