ताज़ा खबर
 

उन्‍नाव रेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक बोले- राजनैतिक व्‍यक्ति हूं, न्‍याय मिलना चाहिए था

उन्नाव रेप केस के आरोपी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने सीबीआई के द्वारा उनके खिलाफ आरोप तय करने के बाद जांच एजेंसी पर सवाल खड़ा किया है और कहा है कि वह राजनीतिक व्यक्ति हैं, उन्हें न्याय मिलना चाहिए था।

उन्नाव रेप केस के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर। (फोटो- एएनआई)

उन्नाव रेप केस के आरोपी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने सीबीआई के द्वारा उनके खिलाफ आरोप तय करने के बाद जांच एजेंसी पर सवाल खड़ा किया है और कहा है कि वह राजनीतिक व्यक्ति हैं, उन्हें न्याय मिलना चाहिए था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सेंगर ने कहा, ”सीबीआई ने मुझे न्याय नहीं दिया है। राजनीतिक व्यक्ति हूं, मुझे न्याय मिलना चाहिए था, नहीं मिला। मैं सीबीआई रिपोर्ट पर अपने वकील से सलाह-मशविरा करूंगा और न्याय के लिए लड़ूंगा। मुझे अदालत से न्याय मिलेगा। मेरे ऊपर लगे सभी आरोप झूठे हैं।” बता दें कि उन्नाव से चार बार विधायक रहे सेंगर के खिलाफ सीबीआई ने एक नाबालिग लड़की से बलात्कार करने के मामले में चार्जशीट दाखिल की है। पीड़िता के आरोप के मुताबिक सेंगर ने पिछले वर्ष 4 जून नौकरी का झांसा देकर उसे अपने घर बुलाया था और उसके साथ बलात्कार किया।

मामला उस वक्त मीडिया की सुर्खियों में आ गया था जब नाबालिग पीड़िता ने इस वर्ष अप्रैल में लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस हिरासत में पीड़िता के पिता की मौत हो गई। आरोप लगा कि विधायक और उसके आदमियों ने साजिशन पीड़िता के पिता की हत्या करवा दी। हिरासत में मौत के बाद यूपी पुलिस की खूब किरकिरी हुई। मामला सीबीआई को सौंपा गया। तब से मामला सीबीआई की विशेष अदालत में चल रहा और आरोपी को सीतापुर जेल में रखा गया है।

सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसकी सहयोगी शशि सिंह के खिलाफ आरोप तय किए हैं। सीबीआई ने विधायक कुलदीप सेंगर और शशि सिंह के खिलाफ 120 (बी), 363, 366, 376 (1), 506 और पोक्सो अधिनियम की धारा 3, 4 के तहत आरोप तय किए हैं। सीबीआई के द्वारा चार्जशीट दाखिल किए जाने के बाद से भारतीय जनता पार्टी विपक्षियों के निशाने पर आ गई है और विरोधी नेता सेंगर को तत्काल प्रभाव से पार्टी से बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं। बीजेपी की तरफ से कहा गया है कि पार्टी इस मामले में अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करेगी और जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं लेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App