ताज़ा खबर
 

बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ सीबीआई चार्जशीट, बैकफुट पर पार्टी

उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार मामले में सीबीआई द्वारा चार्जशीट दायर किये जाने के बाद पार्टी बैकफुट पर आ गयी है, क्योंकि विपक्षी दल इस मामले में विधायक को पार्टी से निकालने की मांग कर रहे है जबकि पार्टी का कहना है कि इस मामले पर अभी कोई निर्णय लेना जल्दबाजी होगी।

Author लखनऊ | July 12, 2018 5:27 PM
उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार मामले में सीबीआई द्वारा चार्जशीट दायर किये जाने के बाद पार्टी बैकफुट पर आ गयी है।

उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार मामले में सीबीआई द्वारा चार्जशीट दायर किये जाने के बाद पार्टी बैकफुट पर आ गयी है, क्योंकि विपक्षी दल इस मामले में विधायक को पार्टी से निकालने की मांग कर रहे है जबकि पार्टी का कहना है कि इस मामले पर अभी कोई निर्णय लेना जल्दबाजी होगी। उप्र भाजपा प्रवक्ता चंद्रमोहन ने आज कहा कि पार्टी नेतृत्व इस मामले पर बारीकी से नजर रखे हुये है और उन्नाव के स्थानीय नेताओं के संपर्क में भी है । पार्टी की नीतियों के अनुरूप उचित कदम उठाया जायेगा । इस मामले में निश्चित ही कोई निर्णय लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि उन्नाव विधायक के खिलाफ कल ही सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल की है । अभी इस मामले में कोई भी निर्णय लेना जल्दबाजी होगी ।

सेंगर पर चार्जशीट दाखिल होने के बाद पार्टी द्वारा कोई भी कार्रवाई न किये जाने के सवाल पर चंद्रमोहन ने कहा कि अभी चार्जशीट दाखिल किये हुये ज्यादा समय नहीं बीता है । किसी भी नतीजे पर तुरंत पहुंच जाना बहुत ही जल्दबाजी होगी और यह ठीक भी नही होगा । भाजपा कभी भी अपने सिद्धांतों के साथ समझौता नहीं करती है और अपने सिद्धांतों को हमेशा महत्व देती है। उन्नाव के चार बार के विधायक रहे सेंगर पर सीबीआई ने एक नाबालिग लड़की के उन्नाव के माखी गांव में पिछले साल चार जून को बलात्कार करने के मामले में चार्जशीट दाखिल की है।

यह मामला उस समय सुर्खियों में आया, जब नाबालिग पीड़िता ने अप्रैल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश की। तब 10 महीने बाद सीबीआई को यह मामला सौंपा गया था । इसी के बाद पुलिस हिरासत में पीड़िता के पिता की मौत हो गयी थी। सीबीआई ने कल बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसकी सहयोगी शशि सिंह के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल कर दिया। विधायक और उसकी सहयोगी के खिलाफ 120(बी), 363, 366, 376(1), 506 और पॉक्सो ऐक्ट की धारा 3 और 4 के तहत आरोपपत्र दाखिल किया गया है।
ष्सेंगर को पार्टी से न निकाले जाने पर कड़ा प्रहार करते हुये समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि ‘अगर किसी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो जाती है तो उसे पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिये । लेकिन भाजपा का पुराना इतिहास रहा है कि वह ऐसे लोगों को पार्टी में पनाह देती है। उप्र कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि पार्टी को चाहिये कि वह अपने विधायक के खिलाफ कार्रवाई करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App