ताज़ा खबर
 

सीवर क्लीनिंग मशीन के लिए दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों को मिला ‘एक्वा एक्सीलेंसी अवॉर्ड’

दिल्ली जल बोर्ड के पूर्व सीईओ अजय कुमार सिंह ने कहा, 'दिल्ली में सीवर क्लीनिंग मशीन ने सैकड़ों सीवर सफाई करने वाले लोगों को नई जिंदगी दी है। PEMS एक्ट 2013 के तहत समाज के गरीब वर्गों के लिए अत्याधुनिक डिजाइन वाले सीवर क्लीनिंग मशीन को डेवलप गया।

Author नई दिल्ली | Published on: November 8, 2019 11:47 PM

देश की राजधानी दिल्ली के इंडियन हैबिटेट सेंटर में ‘वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी शिरकत की। उन्होंने दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों को सीवर क्लीनिंग मशीन का डिजाइन तैयार करने के लिए ‘एक्वा फाउंडेशन अवॉर्ड’ से सम्मानित किया। इस मौके पर संबोधित करते हुए शेखावत ने पानी और पर्यावरण के क्षेत्र में व्यक्तिगत और संस्थानों द्वारा सराहनीय कार्य के लिए के लिए दिल्ली स्थित इंडिया हैबिटेट सेंटर में चयनित लोगों को ‘एक्वा एक्सीलेंस अवॉर्ड’ दिया।

‘समस्याओं को गंभीरता से लेने की जरूरत’: समारोह का उद्घाटन करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब तक जल का विषय आम जन की चर्चा और चिंतन का विषय न बन जाए तब तक जल संकट की समस्या से निदान नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘पूरे विश्व में आज पानी का विषय एक बहुत ही गंभीर चुनौती के रूप में है, यह एक वैश्विक समस्या है जिसे सबको साथ मिलकर सुलझाना होगा। भारत सरकार लगातार लोगों को जल संरक्षण के लिए प्रेरित कर रही है। सरकार के साथ हम सभी समाज के लोगों को भी जल संबंधित समस्याओं को गंभीरता से लेना होगा ताकि हमारी आने वाली पीढ़ियों को यह समस्या न झेलनी पड़े।’

…इन अधिकारियों को मिला सम्मानः सीवर क्लीनिंग मशीन के सफल प्रयोग के लिए दिल्ली जल बोर्ड के पूर्व सीईओ (IAS) अनिल कुमार सिंह, सुपरिटेंडेंट इंजीनियर भूपेश कुमार और एक्जीक्यूटिव इंजीनियर वीरेंद्र ग्रोवर को “एक्वा एक्सीलेंस अवॉर्ड’’ दिया गया। दिल्ली में सीवर क्लीनिंग मशीन की टेक्नोलॉजी विकसित करने में दिल्ली जल बोर्ड के इन तीनों अधिकारियों का योगदान महत्वपूर्ण है।

सीईओ बोले- सम्मान मिलना उत्साहजनकः मीडिया से बात करते हुए दिल्ली जल बोर्ड के पूर्व सीईओ अजय कुमार सिंह ने कहा, ‘दिल्ली में सीवर क्लीनिंग मशीन ने सैकड़ों सीवर सफाई करने वाले लोगों को नई जिंदगी दी है। PEMS एक्ट 2013 के तहत समाज के गरीब वर्गों के लिए अत्याधुनिक डिजाइन वाले सीवर क्लीनिंग मशीन को डेवलप गया। यह सम्मान मिलना उत्साहजनक है।’ बता दें कि एक्वा फाउंडेशन पानी और पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर काम करने वाली संस्था है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सावधान! रेल पटरियों पर ‘यमराज’ की दस्तक, कंधे पर उठा ले जाते हैं लोग
2 भाजपा, शिवसेना के बीच नहीं हुआ सत्ता साझेदारी का कोई करार: गडकरी
3 डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आईं देशभर की वक्फ सम्पत्तियां, 100 % पूरा हुआ डिजिटलीकरणः नकवी