रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने किया चार नई ट्रेनों का एलान - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने किया चार नई ट्रेनों का एलान

प्रभु ने कहा कि यह पूरे देश में रेल की सेवा बढ़ाने का प्रयास है। रेल मंत्रालय नहीं चाहता कि राज्य के मुख्यमंत्री रेल बजट पेश करने की पूर्व संध्या पर नई दिल्ली आएं ताकि बजट में उनके राज्य की मांग को शामिल किया जा सके।

Author वडोदरा | August 18, 2016 6:11 AM
रेल मंत्री सुरेश प्रभु (पीटीआई फाइल फोटो)

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बुधवार को चार नई श्रेणियों के रेलगाड़ी की घोषणा की, जिसमें एक अनारक्षित श्रेणी के यात्रियों के लिए है और तीन रेलगाड़ियां आरक्षित श्रेणी के तहत होंगी। ये रेलगाड़ियां अगले कुछ महीने में संचालित होंगी। उन्होंने कहा कि अनारक्षित श्रेणी के तहत नई रेलगाड़ी चलाने का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि ‘अंत्योदय श्रेणी’ के लोग भी रेलगाड़ी से सफर कर सकें। नगर के नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ इंडियन रेलवे और एमएस यूनिवर्सिटी आॅफ बड़ौदा के बीच गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल की मौजूदगी में सहमति-पत्र पर दस्तखत होने के अवसर पर मंत्री बोल रहे थे।

यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दृष्टिकोण है कि इस श्रेणी के लोगों को यात्रा की सुविधा मुहैया कराई जाए। प्रभु ने कहा कि अंत्योदय एक्सप्रेस लंबी दूरी की, पूरी तरह अनारक्षित, सुपर फास्ट ट्रेन सेवा है, जिसे आम आदमी के लिए शुरू किया जा रहा है और यह भीड़भाड़ वाले मार्ग पर चलाई जाएगी। मंत्री के मुताबिक रेलवे लंबी दूरी की रेलगाड़ियों में दो से चार ‘दीन दयालु’ कोच भी जोड़ेगी, ताकि अनारक्षित श्रेणी के ज्यादा यात्री सफर कर सकें। अन्य रेलगाड़ियां हैं हमसफर- जो पूरी तरह थर्ड एसी रेलगाड़ी है। तेजस श्रेणी की रेलगाड़ियां 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगी, जिसमें स्थानीय व्यंजन, वाई-फाई और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। अंतिम श्रेणी की रेलगाड़ी है उदय (उत्कृष्ट डबल डेकर एअर कंडीशन्ड यात्री) जो रात में चलने वाली रेलगाड़ियां हैं और यह भीड़भाड़ वाले मार्ग पर चलेंगी, जिससे 40 फीसदी तक क्षमता बढ़ेगी।

प्रभु ने कहा कि यह पूरे देश में रेल की सेवा बढ़ाने का प्रयास है। रेल मंत्रालय नहीं चाहता कि राज्य के मुख्यमंत्री रेल बजट पेश करने की पूर्व संध्या पर नई दिल्ली आएं ताकि बजट में उनके राज्य की मांग को शामिल किया जा सके। अब रेल मंत्रालय सभी राज्य सरकारों से संपर्क कर रहा है, ताकि रेलवे से हाथ मिलाकर संयुक्त रूप से कंपनियां शुरू करें, जो संबंधित राज्यों में परियोजनाओं को लागू कर सकें। वडोदरा और अमदाबाद के बीच विशेष रेलगाड़ी का नाम ‘संकल्प एक्सप्रेस’ होगा। विशेष रेलगाड़ी को वडोदरा के सांसद रंजनबेन भट्ट और गुजरात के मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों क ी मौजूदगी में 14 अगस्त को हरी झंडी दिखाई थी। एमओयू के तहत रेलवे के जिन परिवीक्षाधीन अधिकारियों का वर्तमान में एनएआइआर में प्रशिक्षण चल रहा है वे विश्वविद्यालय में अध्ययन कर सकेंगे और एमबीए की डिग्री हासिल कर सकेंगे, जिनकी विशेषज्ञता वित्त, मानव संसाधन प्रबंधन, उत्पादन व संचालन प्रबंधन और विपणन प्रबंधन में होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App