ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र से तीर्थ पर गए 200 लोग, स्‍मृति ईरानी ने कराया पूरा इंतजाम

यात्रियों के लिए यह यात्रा पूरी तरह से मुफ्त है। ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने बताया कि 200 यात्रियों के लिए 5 केसरिया रंग की एसी बसों की व्यवस्था की गई है। इस बस में जरूरत की सभी सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

स्मृति ईरानी और राहुल गांधी (पीटीआई फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के टेंपल रन (मंदिर दर्शन) के जवाब में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ‘अमेठी गंगा दर्शन यात्रा’ का आयोजन किया है। ईरानी द्वारा आयोजित की गई इस यात्रा के तहत राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी से 200 वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थयात्रा पर भेजा गया है। इन सभी तीर्थयात्रियों को हरिद्वार और ऋषिकेश के दर्शन के लिए रविवार (8 अप्रैल) को चार दिन की यात्रा पर भेजा गया है। इस यात्रा के दौरान सभी यात्रियों को मुफ्त भोजन, मुफ्त आवास और चिकित्सा सुविधाएं भी दी जाएंगी। यात्रियों के लिए यह यात्रा पूरी तरह से मुफ्त है।

ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने बताया कि 200 यात्रियों के लिए 5 केसरिया रंग की एसी बसों की व्यवस्था की गई है। इस बस में जरूरत की सभी सुविधा मुहैया कराई जाएगी। टीओआई के मुताबिक अमेठी में बीजेपी के मीडिया इनचार्ज गोविंद चौहान ने बताया कि चार दिवसीय तीर्थयात्रा के दौरान सभी 200 लोगों को हर तरह की सुविधाएं दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि पांच विधानसभा क्षेत्रों- अमेठी, तिलाई, सालोन, गौरीगंज और जगदीशपुर से 40-40 यात्रियों का चयन किया गया है।

यह सभी यात्री ईरानी के अमेठी दौरे से पहले वापस आ जाएंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक स्मृति ईरानी जल्द ही अमेठी का दौरान करने वाली हैं। वह यहां पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात करेंगी। बीजेपी क सूत्रों का कहना है कि कुछ ही दिनों में ईरानी के अमेठी दौरे का पूरा प्लान तैयार हो जाएगा।
वहीं राहुल गांधी द्वारा भी अमेठी का दौरा करने की संभावना है। कांग्रेस अध्यक्ष 16 और 17 अप्रैल के दौरान दो दिन के लिए अमेठी के दौरे पर जा सकते हैं।

राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि राहुल गांधी का मंदिर दर्शन बीजेपी के लिए काफी मुश्किल पैदा कर रहा है। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने करीब 25 मंदिरों के दर्शन किए थे। वहीं अब वह कर्नाटक विधानसभा चुनाव के वक्त भी मंदिरों के दर्शन कर रहे हैं। आपको बता दें कि अमेठी के लोगों को ईरानी द्वारा तीर्थयात्रा पर भेजा जाना 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के तौर पर देखा जा रहा है। उन्होंने साल 2014 में इस क्षेत्र से राहुल गांधी के विरोध में लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन वह 1 लाख वोटों से हार गई थीं। हार के बाद भी ईरानी कई बार अमेठी का दौरा कर चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App