ताज़ा खबर
 

भतीजी को शादी का झांसा देकर रेप, पीड़िता ने 7वें महीने में दिया बच्चे को जन्म!

घटना का खुलासा उस वक्त हुआ, जब पीड़िता पेट में दर्द की शिकायत के बाद स्थानीय अस्पताल गई, जहां उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई। इतना ही नहीं गर्भधारण के सातवें महीने में ही किशोरी ने एक बच्चे को जन्म दिया है।

आरोपी चाचा फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रिश्तों को शर्मसार करने का एक मामला सामने आया है, जिसमें एक चाचा ने ही अपनी भतीजी का शारीरिक उत्पीड़न किया, जिससे नाबालिग बच्ची गर्भवती हो गई और उसने 7 महीने में ही एक बच्चे को जन्म दे दिया। फिलहाल घटना के खुलासे के बाद से ही आरोपी फरार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है। खबर के अनुसार, घटना पुणे के पिंपरी-चिंचवाड़ इलाके की है। जहां 17 वर्षीय एक नाबालिग युवती अपने दादा-दादी के साथ रही थी। इस दौरान किशोरी के सगे दो चाचा भी साथ ही रहते थे। इन्हीं में से एक चाचा ने किशोरी को शादी का झांसा देकर अपनी हवस का शिकार बनाया।

खबर के अनुसार, आरोपी की शादी हो चुकी है, लेकिन उसकी पत्नी उसे छोड़कर अलग रही है। आरोपी ने कक्षा 11 में पढ़ने वाली भतीजी को ही शादी का झांसा दिया और उसके साथ शारीरिक संबंध बना लिए। घटना का खुलासा उस वक्त हुआ, जब पीड़िता पेट में दर्द की शिकायत के बाद स्थानीय अस्पताल गई, जहां उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई। इतना ही नहीं गर्भधारण के सातवें महीने में ही किशोरी ने एक बच्चे को जन्म दिया है। पीड़िता के नाबालिग होने के चलते अस्पताल प्रशासन ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। जिसकी जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर लिया। हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, पुलिस का कहना है कि आरोपी बीते मई से पीड़िता का शारीरिक उत्पीड़न कर रहा था।

पुलिस का कहना है कि आरोपी ने इसके बारे में किसी को भी बताने पर पीड़िता को जान से मारने की भी धमकी दी थी।, जिसके चलते उसने किसी को भी घटना के बारे में नहीं बताया। फिलहाल पुलिस पीड़िता के माता-पिता के ठिकाने के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता के POCSO एक्ट की धारा 376 (शारीरिक उत्पीड़न की सजा) धारा 506 (आपराधिक मंशा) के तहत मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App