ताज़ा खबर
 

उज्जैन पशु मेला: 11000 रुपए में बिके ‘राम रहीम’ और ‘हनीप्रीत’ नाम के गधे

गधे की उच्च दाम में बिक्री इस बात पर निर्भर करती है कि वह किस नस्ल का और कितना हेल्दी है लेकिन इनके विक्रेता गधों के काल्पनिक नाम रखकर भी ग्राहकों को लुभाने का प्रयास करते हैं।
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मध्य प्रदेश के उज्जैन में हर साल की तरह इस बार भी कार्तिक मेले में का आयोजन किया गया। इस मेले में लगभग देश भर से अलग-अलग नस्ल के गधे बिक्री के लिए लाए जाते हैं। मेले में रविवार को एक बड़ी ही दिलचस्प घटना देखने को मिली। दरअसल राम रहीम और हनीप्रीत नाम के एक गधे जोड़े की बिक्री 11000 रुपए में हुई। हरिओम प्रजापत नाम के विक्रेता राम रहीम और हनीप्रीत नाम के इस गधे जोड़े को मेले में बिक्री के लिए लाए थे। हरिओम ने बताया कि वह इसे 20000 रुपए में बेचना चाहते थे। 20000 रुपए में इसे खरीदने के लिए कोई भी ग्राहक तैयार नहीं हुआ। ऐसे में हरिओम को इसे 11000 रुपए में बेचना पड़ा। इसे राजस्थान के एक व्यापापरी ने खरीदा।

वैसे तो गधे की उच्च दाम में बिक्री इस बात पर निर्भर करती है कि वह किस नस्ल का और कितना हेल्दी है। लेकिन इनके विक्रेता गधों के काल्पनिक नाम रखकर भी ग्राहकों को लुभाने का प्रयास करते हैं। ऐसे विक्रेता जानबूझकर अपने गधों को ऐसा नाम देते हैं जो ग्राहकों का ध्यान खींचे और उसे उच्च दाम पर बेचा जा सके। बता दें कि गधों की पीठ पर उनका काल्पनिक नाम लिखा जाता है। राम रहीम और हनीप्रीत के अलावा भी कई दूसरे ऐसे गधे इस मेले में देखने को मिले जिनके नाम बड़े ही दिलचस्प थे।

इनमें एक गधे का नाम जीएसटी था, जो अपने नाम की वजह से ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर खींच रहा था। इसके साथ ही बाहुबली, सुल्तान, 4जी और जियो नाम के गधे भी मेले में बिक्री के लिए लाए गए थे। मध्य प्रदेश के उज्जैन में आयोजित होने वाले इस मेले में दूसरे राज्यों के भी खरीददार और विक्रेता आते हैं। यहां पर आपको गुजरात, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र सहित कुछ और राज्यों के लोग में देखने को मिल सकते हैं। इस मेले में मोटे तौर पर गधों की बिक्री 5 से लेकर 25 हजार रुपए के बीच में होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.