ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में लश्कर-ए-तैयबा के पाक आतंकी ढेर

थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत शुक्रवार को अचानक जम्मू-कश्मीर के दौरे पर पहुंचे। उन्होंने पाकिस्तान से लगती नियंत्रण रेखा, अंतरराष्ट्रीय सीमा व लद्दाख क्षेत्र में चीनी सीमा पर हालात का जायजा लिया। वे अग्रिम सैन्य चौकियों पर गए और वहां तैयारियों व सुरक्षा चुनौतियों की समीक्षा की।

फाइल फोटो (express photo) (representational image)

दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिले के कोकेरनाग इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी मार गिराए गए हैं। इनमें से एक लश्कर-ए-तैयबा का पाकिस्तानी आतंकी था, जिसकी पहचान यूसुफ डार उर्फ कंटरू के तौर पर की गई। वह गुरुवार की देर रात बारामूला में वनकर्मी की हत्या में शामिल था। आतंकवादियों के दस्ते में शामिल लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर अशरफ मौलवी पकड़ लिया गया। मुठभेड़ स्थल से आतंकियों के लिए काम करने वाले चार स्थानीय युवक भी पकड़े गए। मुठभेड़ के दौरान पत्थरबाजों की भीड़ ने मौके पर हंगामा शुरू कर दिया, जिसका लाभ उठाकर दो आतंकी भाग निकले। एक आतंकी को मौके पर सुरक्षाबलों ने घेरे में ले लिया है। खबर लिखे जाने तक वहां मुठभेड़ जारी है।

सुबह से चल रही गोलीबारी के कारण अनंतनाग के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई है। सुरक्षा कारणों से घाटी में लगातार तीसरे दिन ट्रेन सेवाएं स्थगित रहीं। सेना के मुताबिक, मुठभेड़ स्थल पर बरामद किए गए आतंकियों के शव के पास से ग्रेनेड, स्वचालित हथियार और गोलियां बरामद की गई हैं। सुबह आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, कश्मीर पुलिस की एसओजी व सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ तब शुरू हुई, जब वहां छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Fine Gold
    ₹ 8188 MRP ₹ 10999 -26%
    ₹410 Cashback

जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक एसपी वैद्य ने ट्वीट किया, ‘कोकरनाग के गडोले गांव में सुबह चार बजे मुठभेड़ हुई। गांव के एक मकान में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। मौके पर अतिरिक्त सुरक्षाबलों को भेजा गया है। मुठभेड़ के दौरान दो मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। एक मकान के मलबे से एक आतंकी का शव और उसके हथियार मिले हैं।’
उधर, मुठभेड़ शुरू होने के कुछ ही समय बाद बड़ी संख्या में पत्थरबाज मुठभेड़ स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने आतंकियों को भगाने के लिए सुरक्षाबलों की घेराबंदी तोड़नी चाही और सुरक्षाबलों पर पथराव शुरू कर दिया। सुरक्षाबलों ने उन्हें खदेड़ने के लिए लाठियों और आंसू गैस का सहारा लेते हुए आतंकियों के साथ मुठभेड़ जारी रखी। हिंसक झड़पों में छह लोग जख्मी हुए हैं। आतंकियों का ठिकाना बने मकान के अलावा उससे सटा एक अन्य मकान भी मुठभेड़ के दौरान लगी आग में तबाह हो गया। मुठभेड़ स्थल के पास से आतंकियों के चार ओवरग्राउंड वर्कर (आतंकियों के लिए काम करने वाले स्थानीय लोग) भी पकड़े गए हैं। उनके पास से आपत्तिजनक दस्तावेज और अन्य साजो-सामान जब्त किए गए हैं।

संघर्षविराम का उल्लंघन
जम्मू-कश्मीर के पुंछ व उड़ी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने रात नौ बजे से भारतीय सैन्य चौकियों की ओर जबरदस्त गोलीबारी शुरू कर दी। दोनों जगहों पर घुसपैठ कराने के इरादे से संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया है। खबर लिखे जाने तक दोनों ओर की सैन्य चौकियों से गोलीबारी जारी रही। पाकिस्तानी सैनिकों ने स्वचालित व स्नाइपर राइफलों से गोलीबारी की व मोर्टार से गोले दागे। सेना के प्रवक्ता के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में करमारा सेक्टर में भारतीय सेना की पोस्ट पर पाकिस्तानी सेना ने देर रात गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की। पाकिस्तान की तरफ से बड़े व छोटे हथियारों का इस्तेमाल किया गया। मोर्टार के गोले दागे गए। सीमा के अलावा इलाके में सेना और सुरक्षाबलों की चौकसी बढ़ा दी गई है।

देर रात ही उड़ी सेक्टर के नवा और रुंदा गांव के पास स्थित सैन्य चौकियों की तरफ भी पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई है। यहां भी भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर मोर्टार दागे जा रहे हैं। सेना की ओर से गांव के लोगों को घरों के अंदर रहने की हिदायत दी गई है। लोगों से अपील की गई है कि वह अपने घरों के दरवाजे और खिड़कियां बंद कर रखें। भारतीय चौकियों से जवाबी कार्रवाई की जा रही है। (जनसत्ता ब्यूरो)

सेना प्रमुख का औचक दौरा
थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत शुक्रवार को अचानक जम्मू-कश्मीर के दौरे पर पहुंचे। उन्होंने पाकिस्तान से लगती नियंत्रण रेखा, अंतरराष्ट्रीय सीमा व लद्दाख क्षेत्र में चीनी सीमा पर हालात का जायजा लिया। वे अग्रिम सैन्य चौकियों पर गए और वहां तैयारियों व सुरक्षा चुनौतियों की समीक्षा की। सेना के प्रवक्ता के मुताबिक, जनरल रावत ने श्रीनगर व करगिल सेक्टर की विभिन्न चौकियों का दौरा किया। उनके साथ सेना के अन्य कमांडर भी थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App