ताज़ा खबर
 

परिवार की गरीबी मिटाने गया था सउदी अरब, हत्या के मामले में मिली मौत, गांव से लिया कर्ज भी नहीं चुका पाया

सीमा तक खबरें आईं कि उसके पति की मौत हो गई है। खाड़ी देश से फोन कॉल्स भी आए यह बताने के लिए सतविंदर अब नहीं रहा। लेकिन सीमा को फिर भी आस थी कि सतविंदर को कुछ नहीं हुआ है।

Punjab, MEAसतविंदर और उसकी पत्नी सीमा(फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

सउदी अरब में दो भारतीय मूल के लोगों को सजा ए मौत दी गई है। खबर है कि पंजाब के रहने वाले इन दोनों पर दोस्त की हत्या का आरोप था। होशियारपुर के सतविंदर कुमार और लुधियाना के हरजीत सिंह को मौत की सजा सुनाई गई थी। अब इस दुनिया में नहीं रहे सतविंदर की कहानी काफी दर्दनाक है। सउदी जाकर सतविंदर ने सोचा था कि वह घर की मालीय हालत ठीक कर देगा लेकिन गरीबी मिटाने गए सतविंदर बीच सफर में ही चला गया और गांव से लिया गया कर्ज भी नहीं चुकाया जा सका। सतविंदर की पत्नी सीमा शायद ही कभी इस मामले में क्लोजर रिपोर्ट चाहती होगी। सीमा तक खबरें आईं कि उसके पति की मौत हो गई है। खाड़ी देश से फोन कॉल्स भी आए यह बताने के लिए सतविंदर अब नहीं रहा। लेकिन सीमा को फिर भी आस थी कि सतविंदर को कुछ नहीं हुआ है।

दरअसल विदेश मंत्रालय की तरफ से ऐसी किसी खबर पर मुहर नहीं लगी थी। सउदी अरब में भारतीय दूतवास की भी इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं आई थी। अपने पति के बारे में जानने के लिए सीमा ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। 8 अप्रैल को कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी करते हुए कहा कि यह बताया जाए कि सतविंदर को सउदी अरब में सजाए मौत दे दी गई है या नहीं।

बीते मंगलवार को सीमा रानी को भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से एक खत मिला जिसमें सतविंदर और पंजाब के ही एक और शख्स को सउदी अरब में मार डालने की बात कही गई थी। खत में लिखा गया था कि 28 फरवरी को इन दोनों को एक शख्स की हत्या के मामले में सजा मौत दी गई। हालांकि खत में कहा गया है कि सिर कलम करने की जानकारी भारतीय दूतावास को नहीं थी।होशियापुर जिले के सरदारपुर कुलियान गांव के निवासी सतविंदर और हरजीत को 2015 में भारतीय शख्स आरिफ इमामद्दीनल की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था।

मंत्रालय ने कुछ नहीं किया: सीमा
सतविंदर की पत्नी सीमा का कहना है कि भारतीय विदेश मंत्रालय के पास यह मामला 2016 से लंबित था लेकिन मंत्रालय ने इस मामले में पिछले तीन साल से कुछ नहीं किया। सीमा का कहना है कि इस मामले को लेकर उसने कई सांसद और मंत्रियों से मदद की गुहार लगाई लेकिन किसी ने मदद नहीं की होशियारपुर से लोकसभा सांसद अविनाश राय खन्ना ने ही केवल मदद की और मामले को विदेश मंत्रालय के पास ले गए।

सीमा का कहना है कि आखिरी बार उसने सतविंदर से 2 फरवरी को बात की थी इसके बाद एक मार्च को एक फोन आया अनजान शख्स ने फोन पर बताया कि 28 फरवरी को उसके पति का सिर कलम कर दिया गया है। इसके बाद गांव के कई और लोगों ने बताया कि सतविंदर इस दुनिया में नहीं है। लेकिन विदेश मंत्रालय की तरफ से एक स्पष्ट बयान नहीं जारी किया गया था। सतविंदर के जाने के बाद अब घर पर उसकी पत्नी 13 साल की बेटी और बूढ़े मां बाप हैं। सतिवंदर ने रियाद में बतौर ड्राईवर काम करता था। विदेश भेजने वाले एजेंट को दो लाख रुपए चुकाने के लिए सतविंदर के परिवार ने लोन भी लिया था।

हरजीत के साथ भी कुछ ऐसा ही रहा। परिवार में काफी गरीबी के चलते हरजीत को सउदी जाना पड़ा।2007 में वह सउदी गया और 2012 में परिवार से मिलने वापस आ गया। 2012 में उसकी सगाई हो गई थी। लेकिन गिरफ्तारी की खबर सुनने के बाद सगाई टूट गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी लखनऊः संजीदा नेता पसंद अभिनेता नापसंद
2 राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करने के लिए याचिका दायर
3 पूर्व सेनाधिकारियों की चिट्ठी पर बोलीं रक्षा मंत्री- लेटर की विश्वसनीयता ही नहीं, हम सेना के राजनीतिकरण के खिलाफ
बिहार विधानसभा चुनाव 2020
X