ताज़ा खबर
 

नासा की ये दो तस्वीरें कहती हैं केरल में हुई तबाही की दास्तां

नासा की पहली तस्वीर 6 फरवरी 2018 की है। इसमें केरल हरा-भरा दिख रहा है, लेकिन जो दूसरी तस्वीर है वह 22 अगस्त 2018 के केरल की है। इस तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि बाढ़ के कारण केरल की हालत किस कदर बर्बाद हुई है।

Author August 28, 2018 5:41 PM
केरल में आई भयंकर बाढ़ से पानी में डूबी सड़क। (फोटो सोर्स- पीटीआई)

केरल में भयंकर बाढ़ से भारी तबाही मची हुई है। यहां बाढ़ के कारण लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कई लोग बेघर हो गए हैं तो कई लापता हैं। बहुत से लोग राहत शिविरों में रहने के लिए मजबूर हैं। भारत के खूबसूरत राज्य केरल की हालत इस वक्त बेहद खराब है। नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) के द्वारा बाढ़ प्रभावित केरल की दो तस्वीरें जारी की गई हैं। एरियल तस्वीरों को देखकर साफ नजर आ रहा है कि बाढ़ के कारण किस तरह से केरल की हालत बर्बाद हुई है।

नासा की पहली तस्वीर 6 फरवरी 2018 की है। इसमें केरल हरा-भरा दिख रहा है, लेकिन जो दूसरी तस्वीर है वह 22 अगस्त 2018 के केरल की है। इस तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि बाढ़ के कारण केरल की हालत किस कदर बर्बाद हुई है। पहली तस्वीर की तुलना में दूसरी तस्वीर में ये देखा जा सकता है कि केरल के बहुत से हिस्से बाढ़ के पानी में पूरी तरह डूब गए हैं।

बाढ़ के पहले का केरल- 6 फरवरी 2018 का केरल (फोटो सोर्स- नासा) बाढ़ प्रभावित केरल- 22 अगस्त 2018 की तस्वीर (फोटो सोर्स- नासा)

बता दें कि केरल में 29 मई से शुरू हुई मॉनसूनी बारिश के बाद से 417 लोगों ने जान गंवाई है, जबकि 8.69 लाख विस्थापित लोगों ने 2,787 राहत शिविरों में शरण ले रखी है। केरल को देश के लगभग सभी राज्यों की ओर से राहत सामग्रियां और राहत फंड भेजे जा रहे हैं। आम आदमी भी केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। गूगल की ओर से भी केरल को राहत फंड दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक गूगल केरल में राहत कार्यो के लिए 10 लाख डॉलर (करीब सात करोड़ रुपये) का योगदान देगा। केरल भयानक बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। गूगल के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। गूगल फॉर इंडिया कार्यक्रम में दक्षिणपूर्व एशिया व भारत के उपाध्यक्ष राजन आनंदन ने कहा, “गूगल डॉट ओआरजी व गूगल के कर्मचारी केरल में राहत कार्य के लिए 10 लाख डॉलर का योगदान देंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App