ताज़ा खबर
 

अच्छी बारिश के लिए धूमधाम से रचाई थी मेंढकों की शादी, अब मौसम से बेहाल हुए तो मंत्रोच्चार के साथ कराया तलाक

स्थानीय लोगों में मान्यता है कि मेंढकों की शादी करवाने से इंद्र देव प्रसन्न होते हैं और आशीर्वाद स्वरूप जमकर बारिश करवाते हैं। अब ज्यादा बारिश से बचने के लिए बुधवार (11 सितंबर) को इंद्रापुरी के ओम शिव सेवा शक्ति मंडल में प्रतीकात्मक रूप से दोनों का तलाक कराया गया।

Author भोपाल | Published on: September 12, 2019 1:06 PM
बारिश के फेर में मेंढकों की शादी के बाद तलाक (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

देश में अंधविश्वास का आलम यह है कि दो महीने पहले अच्छी बारिश के लिए मेंढकों की शादी कराने वाले लोगों ने अब बारिश रोकने के लिए तलाक भी करवा दिया। इंडिया टुडे के मुताबिक मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल का है। दो महीने पहले सूखे से बचने के लिए अच्छी बारिश की दुआ करते हुए लोगों ने धूमधाम से मेंढकों की शादी करवाई थी। लेकिन अब इतनी बारिश हो रही है कि एक ही सीजन में दो से तीन बार बाढ़ जैसे हालात बन गए।

मंत्रोच्चार से हुआ तलाकः स्थानीय लोगों में मान्यता है कि मेंढकों की शादी करवाने से इंद्र देव प्रसन्न होते हैं और आशीर्वाद स्वरूप जमकर बारिश करवाते हैं। अब ज्यादा बारिश से बचने के लिए बुधवार (11 सितंबर) को इंद्रापुरी के ओम शिव सेवा शक्ति मंडल में प्रतीकात्मक रूप से दोनों का तलाक कराया गया। इस दौरान दोनों को अलग-अलग करने के लिए मंत्रोच्चार भी हुआ। लोगों का मानना है कि दोनों के तलाक से क्षेत्र में खुशहाली आएगी।

लबालब हुए भोपाल के बांधः बुधवार (11 सितंबर) तक मध्य प्रदेश में सामान्य के मुकाबले करीब 26 फीसदी ज्यादा बारिश हुई। रविवार (8 सितंबर) को भोपाल में बारिश ने पिछले 13 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते 24 घंटों में भोपाल में 48 मिमी बारिश दर्ज की गई। कलियासोत और भदभदा बांध के दो गेट खोले जा चुके हैं। कोलार बांध के गेट भी लगभग तीन साल बाद फिर से खोले गए।

National Hindi News, 12 September 2019 Top Updates LIVE: खास खबरों की लाइव अपडेट्स सिर्फ एक क्लिक पर

Mumbai, Gujarat, MP Rains, Weather Forecast Today Live Updates: तमाम जानकारियों के लिए क्लिक करें

इन्फ्रास्ट्रक्चर को नुकसानः सिर्फ भोपाल ही नहीं मध्य प्रदेश के लगभग तीन दर्जन जिलों में इस साल तीसरी बार नदी-नाले उफान पर हैं। लगातार तेज बारिश के चलते कई जगह इन्फ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंचा है। कई नदी-नालों पर बने पुल टूट गए। कई लोग बेघर हो गए और सड़कें भी क्षतिग्रस्त हो गईं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उन्नाव: हिंदुस्तान पेट्रोलियम प्लांट में फटा गैस से भरा टैंक, भीषण आग में 4-5 लोग झुलसे, कई गांव कराए गए खाली
2 यूपी: CM योगी ने टॉपर्स को दिए थे 21-21 हजार के चेक, छात्रों ने डिपॉजिट कराया तो हो गए बाउंस
3 Babita Phogat: राजनीति का ‘दंगल’ लड़ेंगी रेसलर बबीता फोगाट, हरियाणा चुनाव में हो सकती हैं BJP कैंडिडेट