ताज़ा खबर
 

सीरियल धमाकों का निशाना बने बोधगया मंदिर में फिर मिले बम, दलाई लामा और गवर्नर का था कार्यक्रम

बोधगया में स्थित महाबोधि मंदिर परिसर के समीप दो स्थानों से सुरक्षाकर्मियों ने विस्फोटक बरामद किए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार की देर शाम महाबोधि मंदिर के द्वार के पास से एक लावारिस थैला मिला।

बोधगया में जुलाई 2013 में एक आतंकी संगठन द्वारा श्रृंखलाबद्घ विस्फोट किया था। (AP Photo/Archive)

बौद्घ संप्रदाय के महत्वपूर्ण तीर्थस्थल बिहार के बोधगया को एक बार फिर से विस्फोट कर दहलाने की साजिश पुलिस ने नाकाम कर दी है। बोधगया में स्थित महाबोधि मंदिर परिसर के समीप दो स्थानों से सुरक्षाकर्मियों ने विस्फोटक बरामद किए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार की देर शाम महाबोधि मंदिर के द्वार के पास से एक लावारिस थैला मिला। इसकी जांच के बाद इसमें विस्फोटक होने की पुष्टि हुई।

मगध प्रक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक विनय कुमार ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि दो संदिग्ध वस्तुएं मिलने के बाद उसकी जांच कराई गई जिसमें विस्फोटक होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि बम निरोधक दस्ते ने विस्फोटकों को अपने कब्जे में लेते हुए उसे वहां से तत्काल हटा दिया। विस्फोटक मिलने की घटना के बाद आसपास के इलाके में सघन तलाशी ली गई। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था पहले से ही कड़ी थी जिसे और बढ़ा दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि इन दिनों तिब्बतियों के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा भी बोधगया प्रवास में हैं और स्थानीय कालचक्र मैदान में उनका प्रतिदिन प्रवचन चल रहा है। दलाई लामा के प्रवास को लेकर पुलिस प्रशासन पहले से ही बोधगया में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाए जाने का दावा कर रही थी। इस बीच शुक्रवार को बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी बोधगया के दौरे पर थे। गौरतलब है कि विश्व धरोहर महाबोधि मंदिर परिसर सहित बोधगया के कई हिस्सों में जुलाई 2013 में एक आतंकी संगठन द्वारा श्रृंखलाबद्घ विस्फोट किया गया था। इसके बाद से ही यहां की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App