ताज़ा खबर
 

फर्जी फर्म बनाकर जीएसटी में की 60 करोड़ रुपये की हेराफेरी, दो गिरफ्तार

फर्जी फर्म बनाकर नकली बिल के जरिए जीएसटी की हेराफेरी करने वाले गिरोह के दो लोगों को आज वस्तु एवं सेवाकर आसूचना महानिदेशालय की लखनऊ इकाई ने गिरफ्तार कर लिया।

Author July 5, 2018 6:40 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

फर्जी फर्म बनाकर नकली बिल के जरिए जीएसटी की हेराफेरी करने वाले गिरोह के दो लोगों को आज वस्तु एवं सेवाकर आसूचना महानिदेशालय की लखनऊ इकाई ने गिरफ्तार कर लिया। इस गिरोह के सदस्यों ने लगभग साठ करोड़ रुपये की जीएसटी हेराफेरी कर सरकार को चपत लगायी है। अधिकारियों ने कहा कि लखनऊ आंचलिक इकाई द्वारा पहली बार जीएसटी की हेराफेरी करने के मामले में कोई गिरफ्तारी हुई है। अभी इस गिरोह के कई अन्य सदस्यों की तलाश जारी है। वस्तु एवं सेवाकर आसूचना महानिदेशालय के उपनिदेशक कमलेश कुमार ने बताया कि कानपुर के व्यापारी मनोज कुमार जैन और चंद्र प्रकाश तायल बोगस फर्मों के जरिये जीएसीटी की हेराफेरी कर करोड़ों की चपत लगा रहे थे।

मनोज कुमार जैन ने लगभग 300 करोड़ रुपये की फर्जी बिलिंग की और करीब 44 करोड़ रुपये के जीएसटी की हेराफेरी की । वहीं, चंद्रप्रकाश तायल ने लगभग 100 करोड़ रुपये की बोगस बिलिंग कर 16 करोड़ रुपये के जीएसटी की हेराफेरी की। उन्होंने बताया कि विभाग के अपर महानिदेशक राजेंद्र सिंह के निर्देश पर कानपुर के इन दोनों व्यापारियों के बही खातों की जांच की गयी तो इसमें काफी अनियमितताएं पायी गईं।

इन व्यापारियों का एक बहुत बड़ा गिरोह है जो बोगस बिलिंग कर जीएसटी में हेराफेरी करता है । इस गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा अन्य की तलाश की जा रही है। उपनिदेशक कुमार ने कहा कि वस्तु एवं सेवाकर आसूचना महानिदेशालय की लखनऊ इकाई द्वारा जीएसटी में हेराफेरी के मामले में यह पहली गिरफ्तारी है ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App