ताज़ा खबर
 

मध्‍य प्रदेश: दुकान जलाने के शक में दो दलितों की बिजली की खंभे से बांधकर पिटाई

मध्य प्रदेश में निर्दयता से दो दलितों की पिटाई की घटना सामने आई है। भीड़ ने खंभे में बांधकर बेरहमी से पिटाई की। इसका वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

Author नई दिल्ली | March 26, 2018 15:03 pm
प्रतीकात्मक तस्वीर

मध्य प्रदेश में निर्दयता से दो दलितों की पिटाई की घटना सामने आई है। भीड़ ने खंभे में बांधकर बेरहमी से पिटाई की। इसका वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। यह घटना मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के धमना गांव की है।बताया जा रहा कि गांव के एक व्यक्ति की दुकान जल गई थी। जिसके बाद ग्रामीणों ने संदेह के आधार पर पुन्नू और छोटा अहरिवार नामक दलितों को पकड़कर उनकी जमकर पिटाई। पिटाई से पहले दोनों दलितों को खंभे से बांधा। फिर इसका वीडियो भी तैयार किया।

उधर सूचना मिलने पर पहुची पुलिस ने दोनों दलितों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया। बमीठा थाना प्रभारी केके खनेजा ने बताया कि पुलिस दोनों दलितों को छुड़ाकर थाने लेकर आई। उधर छतरपुर पुलिस अधीक्षक विनीत खन्ना ने बताया कि घटना की जांच कराई जा रही है। आरोपियों को चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस इस घटना को लेकर गंभीर है।

बता दें कि दलित उत्पीड़न की घटनाओं में मध्य प्रदेश अव्वल है। राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के मुताबिक यह सूबा दलित उत्पीड़न में देश के शीर्ष पांच राज्यों में गिनती होती है। वहीं हैर सरकारी संगठन सामाजिक न्याय एवं समानता केंद्र कीरिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश में दलित उत्पीड़न के 65 प्रतिशत मामलो में मुकदमा ही नहीं हो पाता।वहीं नेशनल काउंसिल ऑफ एप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च(एनसीएईआर) और अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मैरिलैंड ने अपने एक सर्वे में दलितों के साथ छूआछूत के मामले में मध्य प्रदेश को अव्वल माना था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App