ताज़ा खबर
 

यूपी-बिहार वाले बयान को लेकर कमलनाथ पर दो केस दर्ज, एक मामले में 3 फरवरी को सुनवाई

मध्यप्रदेश में यूपी-बिहार वालों को रोजगार वाले बयान को लेकर सीएम कमलनाथ के खिलाफ बिहार में दो जगह केस दर्ज कराया गया है। इनमें से एक मामले में 3 फरवरी को सुनवाई होगी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो सोर्स : PTI)

मध्यप्रदेश में यूपी-बिहार वालों को रोजगार वाले बयान को लेकर सीएम कमलनाथ के खिलाफ बिहार में दो जगह केस दर्ज कराया गया है। बता दें कि सीएम बनने के अगले ही दिन कमलनाथ ने कहा था कि यूपी-बिहार के लोगों की वजह से मध्यप्रदेश में स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिल पाता। हालांकि, बुधवार को उन्होंने सफाई दी कि सभी राज्यों में यही नीति है। वहां भी स्थानीय लोगों को रोजगार में वरीयता दी जाती है। उन्होंने सवाल किया कि क्या गुजरात में यह नीति नहीं है? मैंने कौन-सी गलत बात की है।

बिहार-उत्तरप्रदेश के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप
कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मुजफ्फरपुर के चीफ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट कोर्ट में कमलनाथ के बयान को लेकर शिकायत दर्ज कराई। हाशमी अब तक कई नेताओं के बयान को लेकर शिकायत दर्ज करा चुकी हैं। याचिकाकर्ता ने बयान को देश की एकता के खिलाफ बताया। हालांकि, कोर्ट ने मामले की सुनवाई की तारीख नहीं दी है। वहीं, पश्चिमी चंपारण जिले में वकील मुराद अली ने भी सीजेएम कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई। यहां 3 फरवरी को सुनवाई होगी।

कोई बाहरी नहीं : शिवराज
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश को देश का हृदय कहा जाता है। यहां पर कोई बाहरी नहीं है। सभी का स्वागत होना चाहिए।

संसद में भी उठा मुद्दा
भाजपा, राजद और जदयू कमलनाथ के बयान की आलोचना कर रहे हैं। यह मुद्दा संसद में भी उठ चुका है। राज्यसभा में बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव ने कहा था कि संवैधानिक पद पर बैठने वाले व्यक्ति के ऐसे बयान से राज्यों के लोगों में नफरत बढ़ेगी। बता दें कि अक्टूबर के दौरान गुजरात में भी उत्तरप्रदेश-बिहार से आने वालों के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे।

 

राजनीतिक पार्टियों ने कांग्रेस पर किया हमला
कमलनाथ के बयान के बाद राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला बोला। बिहार के कई नेताओं का कहना है कि वे कमलनाथ को यूपी-बिहार में घुसने नहीं देंगे। वहीं, उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा था कि कमलनाथ का यह बयान गलत है। पहले इस तरह की बातें महाराष्ट्र और दिल्ली से सुनने को मिलती थीं कि उत्तर भारतीय यहां क्यों आते हैं। अब मध्यप्रदेश भी उसी कतार में खड़ा हो गया है। उत्तर भारतीय ही तय करते हैं कि केंद्र में सरकार किसकी बनेगी। तब क्या होगा?

कई नेताओं ने जताई नाराजगी

अखिलेश यादव के अलावा बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने भी कांग्रेस पार्टी पर जोरदार हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि जिस कमलनाथ पर सिख विरोधी दंगों का आरोप है, वे बिहारियों को गाली दे रहे हैं। कांग्रेस पार्टी को इस पर बिहार के लोगों से माफी मांगनी चाहिए। अगर वे माफी नहीं मांगेगे तो बिहार में बाहर से आने वाले कांग्रेसियों का विरोध किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App