ताज़ा खबर
 

रेवाड़ी गैंगरेप कांड: आरोपी जवान सहित दो की गिरफ्तारी

अब तक पांच धरे: मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है लेकिन इस मामले में और लोगों के शामिल होने की भी संभावना है। इससे पहले, 16 सितंबर को हरियाणा पुलिस ने मुख्य आरोपी नीशू और दो अन्य को गिरफ्तार किया था।

Dalit Massacre, Dalit Massacre in allahabad, Allahabad Dalit Massacre, Main Accused, Main Accused arrested, Dalit Massacre Arrests, job in Railway, Main Accused job, state newsइस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

हरियाणा के रेवाड़ी जिले की एक युवती से हुए सामूहिक बलात्कार की घटना के 10 दिनों बाद राज्य की पुलिस ने इस मामले में फरार चल रहे थलसेना के एक जवान सहित दो आरोपियों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया। दोनों को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। पंकज को पीड़िता का पूर्व परिचित बताया जा रहा है। इस मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआइटी) की प्रमुख ने इन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद रेवाड़ी में बताया कि सेना के जवान पंकज और एक अन्य आरोपी मनीष को महेंद्रगढ़ जिले के सतनाली से सुबह एक ढाबे के निकट गिरफ्तार किया गया।

दोनों को रविवार सुबह लगभग छह बजे गिरफ्तार किया गया है। पुलिस कई दिन से दोनों आरोपियों के पीछे लगी थी। हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया कि आरोपी लगातार अपने ठिकाने बदल रहे थे। कभी इनके उत्तराखंड में होने की तो कभी राजस्थान में होने की जानकारी मिली। सूचनाओं के आधार पर पुलिस की टीमें लगातार दबिश दे रही थी। पैसों के अभाव में दोनों खानाबदोश की तरह रह रहे थे। कभी किसी जंगल में तो कभी किसी के खेत में इन्होंने अपना ठिकाना बनाया। एक बार इनके गोगामेढी के मेले में भी होने की जानकारी मिली थी। मेवात की एसपी व एसआइटी की प्रमुख नाजनीन भसीन ने बताया कि रविवार को गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों ने अपने फोन किसी जगह दबा दिए थे। बाद में छोटे मोटे अपराधियों की मदद से वे गांवों में छिपते रहे, धर्मशालाओं में शरण लेते रहे और वे खेतों और पहाड़ियों पर सोते रहे। उन्होंने कहा कि इस अवधि के दौरान आरोपियों को शरण देने वाले लोगों को भी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने आरोपियों के ठिकानों के खास स्थानों को साझा नहीं किया। हालांकि उन्होंने कहा कि वे हरियाणा-राजस्थान सीमा के आसपास घूमते रहे।

इससे पहले, 16 सितंबर को हरियाणा पुलिस ने मुख्य आरोपी नीशू और दो अन्य को गिरफ्तार किया था। भसीन ने बताया कि पूछताछ के दौरान नीशू की भूमिका मामले के ‘षड्यंत्रकारी’ के रूप में उभरकर सामने आई है। एक सवाल के जवाब में भसीन ने कहा कि कुछ आरोपी पहले भी संगठित अपराध की घटनाओं में शामिल रहे हैं। महेंद्रगढ़ जिले की एक अदालत ने शुक्रवार को नीशू की रिमांड चार दिन के लिए बढ़ा दी थी जबकि संजीव और दीनदयाल को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। पुलिस ने कहा था कि महेंद्रगढ़ जिले में 12 सितंबर को एक युवती का उस समय अपहरण कर लिया गया था जब वह कोचिंग कक्षा में जा रही थी। उसके साथ कथित रूप से नशीला पदार्थ खिलाकर सामूहिक रूप से दुष्कर्म किया गया।

भसीन ने दावा किया कि एसआइटी मामले में 24 घंटे काम कर रही है और एसआइटी ने कम समय में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है लेकिन इस मामले में और लोगों के शामिल होने की भी संभावना है। 12 सितंबर को हुई इस घटना के बाद हरियाणा पुलिस ने मेवात की एसपी नाजनीन भसीन के नेतृत्व में एक एसआइटी का गठन किया था और मामले के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए सूचना देने वाले को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की थी।
रेवाड़ी सामूहिक बलात्कार कांड पर देश भर में आक्रोश के मद्देनजर विपक्षी पार्टियों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से नैतिक आधार पर इस्तीफा मांगा है। उनका आरोप है कि खट्टर की सरकार हरियाणा की बेटियों की हिफाजत में नाकाम रही है। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों ने अपने फोन किसी जगह दबा दिए थे। बाद में छोटे मोटे अपराधियों की मदद से वे गांवों में छिपते रहे, धर्मशालाओं में शरण लेते रहे और वे खेतों और पहाड़ियों पर सोते रहे। उन्होंने कहा कि इस अवधि के दौरान आरोपियों को शरण देने वाले लोगों को भी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। – नाजनीन भसीन, एसआइटी प्रमुख व मेवात की एसपी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत करते बोले प्रधानमंत्री, कहा- ‘आयुष्मान भारत’ है सबका साथ-सबका विकास
2 भागलपुर: पिता की कब्र खोदने निकले बेटे की मौत से हंगामा, मौके पर पहुंची पुलिस
3 गोवा के सीएम बने रहेंगे मनोहर पर्रिकर, मंत्रिमंडल में होगा बदलाव- अमित शाह
यह पढ़ा क्या?
X